उप-राज्‍यपाल किरण बेदी के खिलाफ तीन दिन से धरने पर बैठे पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी

0
387
Puducherry Chief-Minister Lieutenant Governor
पार्टी नेताओं के साथ धरने पर बैठे मुख्‍यमंत्री, फोटो साभार एएनआइ

द लीडर : दक्षिण भारत के केंद्र शासित राज्य पुडुचेरी में उप-राज्यपाल और सरकार में ठन गई है. मुख्यमंत्री वी नारायणसामी पिछले तीन दिनों से उप-राज्यपाल किरण बेदी के खिलाफ धरने पर बैठे हैं. उनका आरोप है कि ‘उप-राज्यपाल निर्वाचित सरकार के कामकाज में बाधा डाल रही हैं. हर रोज प्रशासन में उनका दखल बढ़ता जा रहा है. इसलिए केंद्र सरकार से हमारी मांग है कि किरण बेदी को वापस बुलाया जाए.’

मुख्यमंत्री पार्टी नेताओं के साथ पिछली 8 जनवरी से राज निवास के पास धरना दे रहे हैं. ‘द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक वीसेकी नेता और सांसद थोल थिरुमावलन और भाकपा सचिव आर मथुरासन भी मुख्यमंत्री के साथ एकजुटता दिखाते हुए धरना स्थल पर पहुंचे हैं.

थिरुमावलन ने अपने संबोधन में कहा कि किरण बेदी के आचरण ने राज्यपालों और उप-राज्यपालों के पद को समाप्त करने की मांग में उनकी पार्टी को शामिल करने पर विवश किया है.

उन्होंने कहा कि ‘जब निर्वाचित प्रतिनिधियों को कानून बनाने का अधिकार है, तो फिर ऐसे पदों की कोई आवश्यकता नहीं है. केंद्र की यूपीए सरकार के दौरान किरण बेदी इंडिया अगेंस्ट करप्शन आंदोलन का हिस्सा थीं. बाद में वह भाजपा में शामिल हो गईं और दिल्ली चुनाव भी लड़ा.


गजब : पुड्डुचेरी की जिलाधिकारी को परोस दी जहरीले पानी की बोतल


 

उन्होंने आरोप लगाया कि उप-राज्यपाल के तौर पर नियुक्ति के बाद से ही किरण बेदी भाजपा का एजेंडा पूरा करने की कोशिश में लगी हैं.’ इसलिए उन्हें वापस बुलाने की मांग का हम समर्थन करते हैं. करीब 12.50 लाख की आबादी वाले केंद्र शासित राज्य में राजनीतिक खींचतान अपने शीर्ष पर है. मुख्यमंत्री ने तीन दिवसीय धरना बुलाया था.

डीएम को पानी की बोतल में जहरी पानी का मामला

कुछ दिन पहले ही पुडुचेरी की जिलाधिकारी (डीएम) पूर्वा गर्ग को एक बैठक के दौरान विषाक्त पानी परोसने का मामला सामने आया था. इस घटना ने पूरे देश का ध्यान पुडुेचरी की तरफ खींचा था. राज्यपाल किरण बेदी ने स्वयं एक ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा की थी. इस मामले की विशेष जांच जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here