जामिया के अंदर या बाहर प्रदर्शन पर रोक, यूनिवर्सिटी के आदेश की क्यों हो रही आलोचना

0
75
Jamia Millia Islamia University
जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी.

द लीडर : दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय ने छात्रों और फैकल्टी को किसी भी तरह के धरना प्रदर्शन या समूह में इकट्ठा न होने की सलाह दी है. ये स्पष्ट करते हुए कि जामिया नगर पुलिस ने ओखला इलाक़े में 17 नवंबर तक के लिए धारा-144 लागू कर रखी है. इस दरम्यान अगर कोई छात्र, शिक्षक या कर्मचारी भीड़ के रूप में या किसी तरह के प्रदर्शन में शामिल होते हैं-तो दिल्ली पुलिस की कार्यवाही के लिए वे ख़ुद ज़िम्मेदार होंगे. (Jamia Millia Islamia University)

यूनिवर्सिटी के चीफ़ प्रॉक्टर का ये आदेश बड़ी तेज़ी के साथ वायरल हो रहा है. इसमें एक प्वॉइंट यह भी है कि छात्र या शिक्षक कैंपस के अंदर भी किसी तरह का प्रोटेस्ट नहीं करेंगे और न ही भीड़ के रूप में जमा होंगे. प्रॉक्टश्र ने भी ये भी साफ़ किया है कि दिल्ली पुलिस की सूचना पर ये आदेश जारी किया गया है.

इससे पहले जामिया की रिसर्च स्कॉलर सफ़ूरा जरगर का एडिमशन निरस्त करने के विरोध में प्रदर्शन करने वाले छात्रों को नोटिस जारी किया गया था. और उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया था. ये मामला भी काफ़ी चर्चा में रहा था और छात्रों के एक बड़े समूह ने इसकी आलोचना की थी. इसके बाद ये प्रदर्शन पर रोक का ये नया आदेश सामने आया है. (Jamia Millia Islamia University)


इसे भी पढ़ें-चीफ़ जस्टिस ऑफ इंडिया के बेटे श्रीयस की यूपी सरकार की तरफ़ से सुप्रीमकोर्ट में वरिष्ठ वकील की नियुक्ति अटकी


 

जामिया बस स्टॉप पर अर्ध नग्न पोस्टर का विरोध

जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी कैंपस के बस स्टॉप पर एक बॉडीकेयर प्रोडक्ट का विज्ञापन लगा है. मॉडल्स इनर गारमेंट्स में इनका प्रचार कर रही हैं. कैंपस के बस स्टॉप पर इस तरह का विज्ञापन लगाए जाने का विरोध शुरू हो गया है. मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑग्रेनाइजेशन ऑफ इंडिया ने अपने अधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से इसकी शिकायत दिल्ली पुलिस और उप-राज्यपाल से की है. (Jamia Millia Islamia University)


(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)