पेशी के दौरान राउज एवेन्यू कोर्ट में मुस्कुराए केजरीवाल, वकील ने कहा….

0
54

द लीडर हिंदी : शराब नीति मामले में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को आज शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया. इस दौरान मुख्यमंत्री के चेहरे पर मुस्कुराहट दिखाई दी. पेशी के दौरान कोर्ट रूम से कुछ दूर पहले ही केजरीवाल बाहर जाते और अगल बगल खड़े लोगों को देख कर मुस्कुराते दिख. इसके बाद कोर्ट रूम में मामले में बहस हुई. इस दौरान ईडी ने अरविंद केजरीवाल को दिल्ली शराब नीति घोटाले का सरगना बताया. बता दें ईडी ने कोर्ट में 28 पेज का रिमांड नोट पेश किया. ईडी ने कोर्ट में अपनी दलील में कहा कि शराब नीति घोटाले के पैसे का इस्तेमाल गोवा चुनाव में किया गया.गुरुवार देर रात ED ने उन्हें गिरफ्तार किया था.बता दें इससे पहले केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी. आज दोपहर याचिका पर सुनवाई होनी थी. इसी बीच ED भी सुप्रीम कोर्ट पहुंची. कोर्ट में कैविएट दायर की. कहा कि ED को सुने बिना सुप्रीम कोर्ट कोई फैसला न ले. अब केजरीवाल के वकील ने कहा कि उन्होंने याचिका वापस ले ली है.

आपको बता दें काफी दिनों से केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर अटकले लगाई जा रही थी.अब वो ईडी की गिरफ्त में आ गए. इससे पहले कोर्ट रूम में दिल्ली के सीएम से वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने मुलाकात की. सिंघवी ने अदालत से अनुमति लेकर केजरीवाल से बातचीत की. केजरीवाल की तरफ से इस मामले की पैरवी करने के लिए अभिषेक मनु सिंघवी ही पहुंचे थे.वही ईडी की तरफ से केजरीवाल पर जांच में लगातार ‘असहयोग’ करने का आरोप लगाते हुए अदालत से उन्हें 10 दिन की हिरासत में भेजने का अनुरोध किया गया. इसके साथ ही ईडी की तरफ से शराब नीति में कथित अनियमितताओं से उनकी पार्टी का संबंध और उनकी व्यक्तिगत भूमिका का पता लगाने की बात भी कही गई. ईडी ने कहा कि दिल्ली शराब नीति भ्रष्टाचार के लिए ही बनाई गई थी.वही ईडी ने कहा कि केजरीवाल सिसोदिया के संपर्क में थे.सिसोदिया शराब नीति घोटाले में आरोपी हैं.

दरअसल आम आदमी पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट से ईडी की गिरफ्तारी के विरोध वाली याचिका वापस ले ली थी. केजरीवाल की तरफ से इस संबंध में निचली अदालत में सुनवाई का हवाला दिया गया था. इससे पहले ईडी ने केजरीवाल से गिरफ्तारी के बाद दो घंटे तक पूछताछ की थी.वही शुक्रवार सुबह दिल्ली के सीएम का मेडिकल कराया गया था. डॉक्टरों की एक टीम को मध्य दिल्ली स्थित प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय में सुबह के समय प्रवेश करते देखा गया. दिल्ली के सीएम को गिरफ्तारी के बाद यहां रखा गया था.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/akhilesh-yadav-reached-sitapur-jail-to-meet-azam-khan-said-azam-khan-will-definitely-get-justice/