फिर हाई कोर्ट की चौखट पर केजरीवाल, गिरफ्तारी के डर से मांगी सुरक्षा

0
41

द लीडर हिंदी : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इनदिनों गिरफ्तारी का डर सता रहा है. इस लिये केजरीवाल ने एक बार फिर हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. ED द्वारा गिरफ्तारी से सुरक्षा की मांग की है. बता दें केजरीवाल ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक नई याचिका दायर कर अपने खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने की मांग की है. न्यायमूर्ति सुरेश कुमार कैत की अगुवाई वाली खंडपीठ मामले की सुनवाई कर रही है. केजरीवाल को ईडी ने गुरुवार 21 मार्च को पूछताछ के लिए समन जारी किया है. बता दें कि ईडी अब तक केजरीवाल को 9 समन भेज चुकी है लेकिन वह एक बार भी पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए हैं.

वही केजरीवाल को ईडी ने आज पूछताछ के लिए बुलाया है. कल दिल्ली हाईकोर्ट में उनके मामले की सुनवाई के दौरान उनके वकीलों ने कहा कि उन्हें आशंका है कि ईडी उन्हें गिरफ्तार कर लेगी और अगर उन्हें सुरक्षा दी जाती है तो वे पेश होने के लिए तैयार हैं.

कोर्ट में सुनवाई को दौरान ईडी की तरफ से एएसजी एसवी राजू ने कहा कि केजरीवाल की इस एप्लीकेशन को मुख्य मामले के साथ ही सुना जाना चाहिए. इस पर आज सुनवाई नहीं हो सकती, इसे मुख्य मामले के साथ ही सुनना चाहिए. उधर, केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि ईडी जवाब दाखिल करने में चाहे जितना समय ले, केजरीवाल के खिलाफ तब तक कोई भी दंडात्मक कार्रवाई नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि किसी भी समन में यह नहीं बताया गया की केजरीवाल को पूछताछ के लिए आरोपी, गवाह, या सीएम के तौर पर बुलाया जा रहा है.

उच्च न्यायालय ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले के संबंध में उन्हें जारी किए गए समन को चुनौती देने वाली याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जवाब मांगा। वहीं, सुनवाई के दौरान कोर्ट ने केजरीवाल के वकील वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी से पूछा कि सीएम पूछताछ के लिए एजेंसी के सामने क्यों नहीं पेश हो रहे हैं.

सिंघवी ने जवाब दिया कि उन्हें आशंका है कि ईडी उन्हें गिरफ्तार कर लेगी और अगर उन्हें सुरक्षा दी जाए तो मुख्यमंत्री पेश होने के लिए तैयार हैं. पीठ ने पूछा आप देश के नागरिक हैं, समन केवल नाम के लिए है। आप पेश क्यों नहीं होते। पीठ ने वरिष्ठ वकील से पूछा ईडी द्वारा सामान्य प्रथा क्या है और क्या यह पहले समन पर ही लोगों को गिरफ्तार कर लेती है.

सिंघवी ने कहा कि आप नेता मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को भी एजेंसी ने इसी तरह गिरफ्तार किया था। यह नई शैली है. इस बीच ईडी की और ससेपेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि याचिका सुनवाई योग्य नहीं है.

केजरीवाल का कहना है कि वे ईडी के सामने पेश होने के लिए तैयार हैं. अगर जांच एजेंसी आश्वासन दे कि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा या फिर हाईकोर्ट को आदेश देना होना कि उनके खिलाफ किसी तरह की दंडात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी.

आतिशी ने कहा- बीजेपी का एक राजनैतिक हथियार है ईडी
बतादें लगातार ईडी पर दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी निशाना साध रही है उन्होंने कहा, ‘यह साफ है कि ईडी एक स्वतंत्र जांच एजेंसी नहीं है बल्कि बीजेपी का एक राजनैतिक हथियार है. ईडी अरविंद केजरीवाल को जांच में भागीदारी के लिए बल्कि उन्हें गिरफ़्तार करने के लिए बुला रही है. बीजेपी चाहती है लोकसभा चुनाव में केजरीवाल चुनाव प्रचार न कर पाएं.और केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया जाए

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/azam-khan-is-getting-trapped-in-legal-trouble/