चुनाव से पहले तबादलों पर सियासत अफसरों में भी असंतोष

0
89

लखनऊ। पंचायत चुनाव के ठीक पहले यूपी के पुलिस महकमे में जमकर तबादले किये जा रहे हैं। इसे लेकर विपक्ष  सरकार पर निशाना साध रहा है। अंदरखाने से ऐसी खबरें भी आ रही हैं कि इससे पुलिस के कुछ स्टेट कैडर असफरों में भी भारी असंतोष है। इसके पीछे की वजह ये है की रिटायरमेंट के ठीक पहले स्टेट कैडर के 4 आईजी अफसरों के तबादले किये गए हैं।

रिटारमेंट से ठीक पहले इस तरह से ट्रांसफर को अपमानजनक माना जा रहा है। इन अफसरों को साइड पोस्टिंग मिलने से नाराजगी है सूत्रों की माने तो अधिकारिओ का कहना है की 35 साल बेदाग छवि के साथ नौकरी करने के बावजूद इस तरह से रिटायरमेंट अपमान जनक है इसको लेकर पीपीएस एसोसिएशन मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा रहा  है।

पुलिस के स्टेट कैडर के अफसरों में असंतोष के पीछे की वजह, स्टेट कैडर के 4 आईजी हटाए जाना  हैं।  रिटायरमेंट के ठीक पहले इस तरह पद से हटा कर साइड पोस्टिंग देने से अधिकारिओ में असंतोष है ,स्टेट कैडर के अफसर इसे अपमानजनक मान रहे हैं।

कुछ ही महीने में रिटायर होने वाले चारों आईजी,सुभाष बघेल को आईजी झांसी पद से हटा दिया गया तो राजेश पांडेय को आईजी बरेली के पद से हटा दिया गया वंही आईजी पीयूष श्रीवास्तव को  मिर्जापुर आईजी के पद से हटाए दिया गया ऐसा ही श्रीपर्णा गांगुली ले साथ भी हुआ जिन्हे नोएडा से हटा दिया गया।

जानकारों की माने तो इन सभी को लखनऊ में साइड पोस्टिंग दी गई है जो लगभग 35 साल स्टेट की सेवा करके आईजी पद पर पहुंचे थे,स्टेट कैडर के ये चारों वरिष्ठतम अफसर हैं।

अगर सूत्रों की माने को इसको लेकर पीपीएस एसोसिएशन सीएम को पत्र लिखने जा रहा है इस  तरीके से हटाए जाने का पीपीएस एसोसिएशन  विरोध करेगा। पीपीएस एसोसिएशन  का कहना है की करीब 35 साल की बेदाग सेवा कर इस तरह की विदाई असम्मानजनक है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here