बिजली विभाग को ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की हिदायत, गलत बिल की शिकायतें प्राथमिकता पर निपटाएं

0
111
ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा.

द लीडर : उत्तर प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मंगलवार को कोविड-19 एकमुश्त समाधान योजना व उपभोक्ताओं को समय पर सही बिल पहुंचाने के अभियान की समीक्षा की. उन्होंने ओटीएस व डाउनलोडेबल बिलिंग की धीमी प्रगति पर सख्त नाराजगी भी जाहिर की. निर्देशित किया कि सभी पात्र उपभोक्ता योजना का लाभ ले सकें, इसके लिए उन तक इसकी जानकारी हर हाल में पहुंचाई जाए. (Power Minister Electricity Department )

सभी उपभोक्ताओं को समय पर सही बिल मिलें, इसके लिए डाउनलोडेबल बिलिंग सुनिश्चित करें. यूपीपीसीएल चैयरमैन को लापरवाही करने वालों की जवाबदेही भी तय करने को कहा. साथ ही अपर मुख्य सचिव ऊर्जा को इसकी निगरानी करने के निर्देश दिए.

ओटीएस में केवल 17.2% उपभोक्ताओं के ही पंजीकरण पर उन्होंने नाराजगी जताई. कहा कि 1.92 करोड़ उपभोक्ताओं में से केवल 33.11 लाख पंजीकरण होना, विभागीय उदासीनता की पुष्टि के लिए पर्याप्त है. सभी प्रबंध निदेशक यह सुनिश्चित करें कि हर पात्र उपभोक्ता का दरवाजा नॉक हो.


अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती हैं ममता बनर्जी


 

उसे योजना के लाभ के बारे में जानकारी हो और मौके पर सही बिल दिया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो. और चेयरमैन इसकी नियमित समीक्षा करें.

ऊर्जा मंत्री नेकहा कि विभिन्न माध्यमों से उनके पास गलत बिल की शिकायतें आ रही हैं. इनका निस्तारण प्राथमिकता पर किया जाए। निर्देशित किया कि सभी गांवों में सांसद एवं विधायकों की उपस्थिति में बिजली चौपाल का आयोजन करें. इसके लिए गांव व मोहल्लों में मुनादी कराकर लोगों को सूचित किया जाए.

बिल गलत होने की शिकायतों का भी समाधान हो. सभी उपभोक्ता जो योजना का लाभ ले सकते हैं, उनका पंजीकरण कराएं. किसी भी उपभोक्ता को भटकना न पड़े, सभी प्रबंध निदेशक यह सुनिश्चित करें.

डाउनलोडेबल बिलिंग की धीमी प्रगति पर भी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अभी भी तय लक्ष्यों को पूरा नहीं किया जा सका है. यह कतई उचित नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here