दुनिया में खुशहाली के पैमाने पर भारत का 139वां नंबर, म्यांमार और बांग्लादेश से भी बदतर हालत

0
97
लाकडाउन में मजदूरों के पलायन की फाइल फोटो-साभार इंटरनेट

द लीडर : दुनिया में खुशहाली का क्या आलम है. ये जानने के लिए संयुक्त राष्ट्र का सतत विकास समाधान नेटवर्क हर साल 149 देशों में सर्वेक्षण के आधार पर एक रिपोर्ट तैयार करता है. साल 2020 में कोरोना महामारी के बीच विश्व में खुशहाली का पता लगाया गया है. इसकी जो रिपोर्ट सामने आई है, कम से कम उसने भारतीयों को जरूर उदास कर दिया है. इसलिए क्योंकि खुशहाली के मुद्​दे पर भारत का नंबर 139वां हैं. जबिक साल 2019 में भारत 92वें नंबर पर था.

लाकडाउन में पलायन करते श्रम‍िक, प‍िता और बच्‍चे की उदासी, फाइल फोटो

खुशहाली के रैंकिंग में फिनलैंड लगातार पहले स्थान पर बना है. रिपोर्ट भारतीय नागरिकों को इसलिए भी हैरान करने वाली है, क्योंकि जिन देशों के नागरिकों को हम सबसे परेशान समझते हैं. मसलन नेपाल, ईरान, माली, मिस्र, खुशहाली के मुद्​दे पर वे भी हमसे बेहतर हैं. और तो और म्यांमार जैसा देश भी रैंकिंग में भारत से ज्यादा खुशहाल है.


आर्थिक विकास की प्रभावशीलता की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता निजीकरण, आनंद तेलतुम्बडे ने जेल से लिखा पत्र


 

भारत के बाद जिन देशों में सबसे ज्यादा उदासी पसरी है, उनमें यमन, तंजानिया, मलावी, रवांडा और जिम्बांबे जैसे देशा शामिल हैं. दुनिया में खुशहाली के पैमाने पर सबसे खराब हालत अफगानिस्तान की है, जो अंतिम पायदान पर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here