देश में एक बार फिर पैर पसारता कोरोना

0
88

लखनऊ | भारत में कोरोनावायरस के नए मामलों में एक बार फिर तेजी देखने को मिल रही है। कुछ समय पहले तक 10,000 के आसपास पहुंच चुके मामले अब 18,000 के ऊपर पहुंच गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में पिछले 24 घंटे में 18,599 नए COVID-19 केस दर्ज किए गए है। इस दौरान, 97 मरीजों की खतरनाक वायरस की वजह से मौत हुई। ताजा आंकड़ों के बाद, देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,12,29,398 पहुंच गए हैं जबकि अब तक कुल 1,57,853 लोगों की जान जा चुकी है।

भारत सरकार बता चुकी है कि ब्रिटेन में सबसे पहले पहचाने गए वायरस के एक नए संस्करण के देश में 180 से अधिक मामले दर्ज हो चुके हैं। साथ ही दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से दुनिया के दूसरे हिस्सों में फैले वायरस के एक और नए संस्करण के भी देश में कई मामले सामने आए हैं। हाल में देश में कोरोना का एक नया संस्करण भी पाया गया पर संक्रमण के पीछे इस वायरस के होने की पुष्टि सरकार ने नहीं की है। अशोका विश्वविद्यालय के महामारी विशेष शाहिद जमील का कहना है कि संक्रमण के चरम से देश के उबर जाने का मतलब यह नहीं है कि भारत दूसरी संभावित लहर से सुरक्षित है।

ये भी पढ़े – नंदीग्राम – बंगाल की सियासत का नया तूफ़ान

देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस की स्थिति फिर से बदल गई है। इसके चलते 15 राज्यों में संक्रमण दर भी बढ़ने लगी है। यहां रोजाना मरीजों की संख्या में धीरे-धीरे ही सही, लेकिन उछाल देखने को मिल रहा है। इन 15 राज्यों में संक्रमण दर पांच फीसदी से अधिक है। जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार पांच फीसदी से अधिक संक्रमण दर होने का मतलब स्थिति नियंत्रण में न होना है।

ये भी पढ़े – कैप्टन ने महिलाओं को दिया एक ख़ास तोहफा

आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 13.2 फीसदी संक्रमण दर है। इसके अलावा गोवा में यह 11.1, नगालैंड में 9.3 और केरल में 9.2 फीसदी है। ठीक इसी तरह कोरोना वायरस की मृत्यु दर को लेकर स्थिति देखें तो पंजाब इस मामले में सबसे आगे है। यहां हर 100 कोरोना मरीजों में लगभग तीन लोग जान गंवा रहे हैं। पंजाब में 3.2 और महाराष्ट्र में 2.4 फीसदी कोरोना मरीज अब तक मौत के शिकार हो चुके हैं।

आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here