पोतियों को हेलीकाप्टर से विदा कर सुनाए जाने के लिए ख़ुद एक कहानी बन गईं दादी

0
237

The Leader. यूपी के ज़िला बरेली में बच्चियों को कहानियां सुनाकर सुलाने और हंसाने वाली एक दादी आने वाले वक़्त के लिए ख़ुद एक कहानी बन गईं. तहसील मीरगंज में दूर तक गांवों में जब शादी के क़िस्से सुनाए जाएंगे तो प्रियंका और प्रीति की दादी प्रेमवती देवी का नाम रुतबे के साथ लिया जाएगा. इसलिए क्योंकि शुक्रवार को उन्होंने काम ही ऐसा करा दिया. अपनी दोनों पोतियों को शादी के बाद हैलीकाप्टर में बैठाकर गांव दोहना से रवाना किया.


दरगाह आला हज़रत की गलियों में बेचैनी का सबब बना दूल्हे का यह डांस


दिल्ली से मंगाया गया हैलीकाप्टर प्रेमवती देवी के बेटे राजेंद्र सिंह यादव के खेत में उतरा. उसके लिए हेलीपैड बनाया गया था. गुरुवार की रात में विवाह की सभी रस्म पूरी की गईं. शुक्रवार को दोनों दुल्हनों को ससुराल के लिए विदा किया गया. शादी में विदाई की इस इस शान-ओ-शौक़त को देखने के लिए दोहना ही नहीं आसपास के गांवों से भी लोग पहुंचे. प्रियंका और प्रीति अपने-अपने दूल्हों के साथ पी के घर से ससुराल के लिए उड़ान भरीं. हैलीकाप्टर को मीरगंज के ही गांव हल्दी खुर्द में उतरना था लेकिन अनुमति नहीं मिल पाने पर पायलट ने गांव के कई राउंड लिए और फिर दिल्ली के लिए निकल गया. वहां दूल्हे और दुल्हनें कार से हल्दी खुर्द पहुंचे. इसी गांव में दादी की पोतियों की ससुराल है. यह भी इत्तेफ़ाक़ है कि सगी चचेरी-तहेरी बहनों को दूल्हे भी चेचरे-तहेरे भाई मिले.


 

जब-जब हार का ग़म सताएगा भारतीय कप्तान हरमनप्रीत को वो एक ग़लती बहुत याद आएगी


अपनी तरह की इस अनोखी शादी पर लड़की के मायके गांव दोहना और ससुराल हल्दी खुर्द दोनों ही में लोग बेहद ख़ुश दिखाई दिए. आसपास के तमाम गांवों में भी इसी शादी का चर्चा है. मीडिया से बात करते हुए प्रेमवती देवी के बेटे राजेंद्र सिंह यादव की यह कहते हुए आंखें भर आईं कि मां की इच्छा पूरी करने से ज़्यादा एक बेटे के लिए और क्या बात हो सकती है. दोनों दुल्हनों और उनके दूल्हों के चेहरे भी ख़ुशी से खिले हुए थे. उनका कहना था कि शादी के बाद हेलीकाप्टर में बैठकर जाएंगे, पहले कभी यह सोचा तक नहीं था लेकिन दादी की इच्छा के चलते हमारे लिए असंभव सी बात संभव हो गई. इतना सब होने के बाद भी दादी की आंखें पोतियों को विदा करते वक़्त आंसुओं से भरी थीं.