बकरीद : दरगाह आला हजरत से हिदायत जारी, कुर्बानी में ये सावधानी बरतें मुसलमान

0
447
Eid Ul Ajha Ala Hazrat
दरगाह आला हजरत

द लीडर : ईद-उल-अजहा, जिसे बकरीद कहा जाता है-21 जुलाई को मनाई जाएगी. तीन रोज कुर्बानी का सिलसिला चलता है. 23 जुलाई को सूर्यास्त (सूरज गुरूब होने) तक, कुर्बानियां होंगी. सुन्नी-बरेलवी मुसलमानों के मरकज (Centre)दरगाह आला हजरत (Dargah Ala Hazrat)से कुछ हिदायतें जारी की गई हैं. जो कुर्बानी में सावधानी बरतने के ताल्लुक से हैं.

दरगाह के सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रजा कादरी ने इस सिलसिले में उलमा के साथ चर्चा की. ईद-उल-अजहा हजरत इब्राहीम अलैहिस्सलाम की याद में मनाया जाता है. कुर्बानी उन्हीं की एक सुन्नत है. सज्जादानशीन ने कहा कि ये उस एहसास का त्योहार है, जो इंसानियत के लिए जरूरी है.


इसे भी पढ़ें- लॉकडाउन में बेरोजगारी से जूझ रहे मजदूरों के लिए दरगाह आला हजरत ने नेपाल भेजी राहत सामग्री


 

मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी ने सज्जादानशीन के हवाले से एक अपील जारी की है. जिसमें कहा है कि एक जिम्मेदारी नागरिक की हैसियत से हमें कुर्बानी में कुछ चीजों का ख्याल रखना है. वो दूसरों की भावनाओं का. इसलिए कुर्बानी बंद जगह में करें. खुले में हरगिज न करें.

कुर्बानी के बाद के अवशेष बाहर न फेंके. न ही नालियों में खून बहाएं. ये सब एक गड्ढे में दफना दें. कुर्बानी के फोटो-वीडियो तो किसी भी सूरत न ली जाएं. बैठक में मुफ्ती कफील हाशमी, मौलाना बशीरुल कादरी, मौलाना जाहिद रजा, शाहिद नूरी, ताहिर अल्वी आदि मौजूद रहे.

दरगाह ताजुश्शरिया की अपील

वहीं, काजी-ए-हिंदुस्तान और दरगाह ताजुश्शरिया के सज्जादानशीन मुफ्ती असजद रजा कादरी के हवाले से भी ऐसी ही अपील जारी की गई है. जिसमें कहा गया है कि कुर्बानी बंद जगहों पर ही करें. जमात रजा-ए-मुस्तफा के उपाध्यक्ष सलमान हसन खां ने कहा कि हजरत के पैगाम को जमात देशभर मसलक से जुड़े उलमा तक पहुंचा रही है.

समाज को जागरुक करेंगे ये लोग

दरगाह के पैगाम से समाज को जागरुक करने की जिम्मेदारी टीटीएस को सौंपी गई है. औरंगज़ेब नूरी, परवेज़ नूरी, अजमल नूरी, मंज़ूर खान, हाजी जावेद, मुजाहिद बेग, गौहर खान, इशरत नूरी, सय्यद माज़िद, हाजी अब्बास नूरी, यूनुस गद्दी, आसिफ रज़ा, सय्यद फरहत, काशिफ सुब्हानी, ज़ोहिब रज़ा, आसिफ नूरी, शान रज़ा, तारिक सईद, ज़ुबैर रज़ा खान, आलेनबी, जुनैद अज़हरी, सुहैल रज़ा, शाद रज़ा, साकिब रज़ा, शारिक बरकाती,इरशाद रज़ा, साजिद नूरी, अश्मीर रज़ा, आरिफ नूरी, जावेद रज़ा खान, नदीम अज़हरी, अब्दुल जव्वाद, सैफ रज़ा आदि रहे.

कुर्बानी के मीट बांटने पर न रोके पुलिस

महाराष्ट्र में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विधायक अबू आसिम आजमी सरकार और गृहमंत्रालय को एक मांग पत्र दिया है. जिसमें कहा है कि बकरीद पर कुर्बानी का मीट बांटने वालों को पुलिस द्वारा रोका न जाए. आजमी ने अपने मांग पत्र में ईद पर सुरक्षा और सफाई व्यवस्था के बेहतर बंदोवस्त का भी मुद्​दा उठाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here