पी गया चूहा सारी व्हिस्की… ऐसा अमिताभ बच्चन नहीं पुलिस कह रही है

0
156

एटा। आपसे पूछा जाए कि क्या चूहे शराब पीते हैं तो शायद आपके पास इसका जवाब नहीं होगा। अगर मान भी लिया जाए कि चूहे शराब पीते हैं तो उनका पेट कितना बड़ा होता है। अब आप सोच रहे होंगे कि हम इसका जिक्र ऐसे क्यों कर रहे हैं तो पढ़िए एटा की इस घटना को।

उत्तर प्रदेश में एटा की पुलिस ने कमाल ही कर दिया। यहां पुलिस ने लाखों रुपए की शराब को बेचने के बाद अपनी जनरल डायरी में करीब 2400 पेटी शराब को चूहों द्वारा पीना बताया है। कोतवाली देहात में 11 मार्च को जिलाधिकारी डॉ विभा चहल ने भारी पुलिस फोर्स के साथ कोतवाली देहात में अचानक छापामार कार्रवाई की थी।

ये भी पढ़ें – अब वाराणसी और कानपुर में भी पुलिस कमिश्नरेट होगा

इसमें करीब 2400 से अधिक पेटी शराब कम मिली थी। जिसकी कीमत जिलाधिकारी ने करीब 30 लाख रूपए उस समय बताई थी।उसके बाद छापामार कार्यवाही के बाद आरोपी इंस्पेक्टर इंद्रेश पाल सिंह भदौरिया और उनके मुंशी रसाल सिंह के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। दोनों के खिलाफ गबन का मामला दर्ज कर मामले की जांच अलीगढ़ क्राइम ब्रांच को सौंपी थी।

तब से यह जांच चल ही रही थी कि आरोपी इंस्पेक्टर इंद्रपाल सिंह और उनकी पुलिस का एक और कारनामा सामने आया था। जिसमें उन्होंने एक ढाबे पर ढाबा मालिक से खाने के पैसे मांगने पर फर्जी मुठभेड़ दिखाते हुए करीब एक दर्जन लोगों को अवैध शराब और गांजा का केस लगाकर जेल भेज दिया था।

ये भी पढ़ें – पंचायत चुनाव के पहले पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल,125 डीएसपी के तबादले

उस मामले में भी उच्चाधिकारियों की निर्देश पर इंद्रेश पाल सिंह भदोरिया और उनके अन्य पुलिसकर्मियों को पकड़ने के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है, लेकिन अभी तक पुलिस अपने इंस्पेक्टर और कुछ कर्मियों को नहीं पकड़ पाई है। अभी क्राइम ब्रांच की जांच में एक नया कारनामा पुलिस का सामने आया है जिसमें उन्होंने थाने से शराब बेचने के बाद अपनी जनरल डायरी में करीब 2400 पेटी शराब जिसकी कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here