खबरदार मीडिया में किन्नर अखाड़े का नाम लिया तो!

0
327

 

द लीडर हरिद्वार (उत्तराखंड)

किन्नर अखाड़ा अब संतों की आंखों की किरकिरी बनता जा रहा है। जिस तरह से अखाड़ा बनने के बाद कुछ किन्नरों की बेअंदाजी सामने आई है उसे देखते हुए भाजपा ने भी आंखे तरेरी हैं। नवीनतम घटनाक्रम ये है कि अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने किन्नर अखाड़ा कहने और छापने पर कार्रवाई की चेतवानी दे दी है।

 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि महाराज ने किन्नर अखाड़े के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोल दिया है श्री मंहत नरेंद्र गिरि ने किन्नर अखाड़े को 14वें अखाड़े के रूप प्रचारित और प्रसारित करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है । पूर्व में अखाड़ा परिषद के महामंत्री श्री मंहत हरि गिरि महाराज के किन्नर अखाड़े के पक्ष में आने के बाद श्री महंत नरेंद्र गिरि महाराज का रुख नरम पड़ गया था। कुंभनगरी हरिद्वार में किन्नर अखाड़े की भव्य पेशवाई निकाली गई थी इसके बाद किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी और संत सोशल मीडिया पर पूरी तरह से छा गए थे किन्नर अखाड़े ने सहयोगी अखाड़े के तौर श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के साथ शाही स्नान भी किया था इसके बाद किन्नर अखाड़े की छावनी में संतों के दर्शन और आशीर्वाद के लिए श्रद्धालुओं की कतार लगनी शुरू हो गई थी इस बीच सोशल मीडिया पर किन्नर अखाड़े को 14वें अखाड़े के रूप में प्रचारित प्रसारित किया जा रहा है । अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि महाराज ने किन्नर अखाड़े को 14वां अखाड़ा बताने पर एक बार फिर विरोध प्रकट किया है उन्होंने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कहा कि जो भी किन्नर अखाड़े को 14वें अखाड़े के रूप में प्रचारित प्रसारित करेेगा अखाड़ा परिषद उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएगा। उन्होंने कहा कि अखाड़े केवल 13 हैं और भविष्य में भी 13 ही रहेंगे उन्होंने कहा कि लोगों में भ्रम फैलाने की कुचेष्टा को सहन नहीं किया जाएगा !

उल्लेखनीय है कि हाल में किन्नर महामंडेश्वर की कई तस्वीरें वायरल हुई हैं जिनमें वह कई पुरुषों के साथ अलग अलग आपत्तिजनक मुद्राओं में हैं। इधर मीडिया में प्रचार पाने के बाद कुछ किन्नर नेताओं की सत्ता के गलियारों में भी धमक बढ़ी है। हाल ही भी अखाड़ों की सियासत का उल्लेख कर भाजपा प्रवक्ता विनय गोयल ने भी किन्नरों के लिए नियम बनाने की बात की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here