ग्रेटाथुनबर्ग पर दिल्ली पुलिस की सफाई-एफआइआर टूलकिट बनाने वालों के खिलाफ, कन्हैया कुमार का तंज क्यूं थू-थू करवा रहे हो भाई

0
360
Delhi Police Gratthanburg Toolkit Kanhaiya
फोटो, साभार एएनआइ ट्वीटर हैंडल

द लीडर : किसान आंदोलन का समर्थन जताने वाली स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटाथुनबर्ग पर एफआइआर मामले में दिल्ली पुलिस ने सफाई दी है. विशेष आयुक्त प्रवीर रंजन ने कहा कि एफआइआर में किसी का नाम नहीं है. ये कवल टूलकिट बनाने वालों के खिलाफ है, जो जांच का विषय है. दिल्ली पुलिस उस मामले की जांच करेगी. इस सफाई पर जेएनयू के छात्रनेता रहे कन्हैया कुमार ने तंज कसा है.

कन्हैया कुमार ने एक ट्वीट में कहा कि, ‘अब दिल्ली पुलिस कह रही है कि स्कूल-किड पर नहीं टूलकिट पर एफआइआर की है. भाई, क्यूं दुनिया में भारत की थू-थू करवा रहे हो. अगर सचमुच देश को बचाना है तो ट्वीटर से ज्यादा फॉर्मर को प्रमुखता देनी होगी.’

ग्रेटा बोलीं, कोई धमकी डिगा नहीं सकती

ग्रेटाथुनबर्ग विश्व की जानमानी पर्यावरण कार्यकर्ता हैं. किसानों के आंदोलन पर उन्होंने एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने शांतिपूर्ण किसान आंदोलन को समर्थन दिया था. गुरुवार को उनके विरुद्ध जब एफआइआर की खबर सामने आई. तो ग्रेटा ने एक और ट्वीट किया. इसमें दोहराया कि मानवाधिकार के मुद्​दे पर कोई भी धमकी उन्हें डिगा नहीं सकती है.


किसान आंदोलन: रेहन्ना, ग्रेटा और मीना हैरिस के बाद देसी सेलेब्रिटी मैदान में कूदे, तेंदुलकर ने की अपील, विदेश मंत्रालय ने दी सफाई


भारत को बदनाम करने की विदेशी साजिश : जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जो टूलकिट का मामला है. बेहद गंभीर है. साफ होता है कि कुछ विदेशी ताकतें भारत को बदनाम करने की साजिश कर रही हैं.

इससे पहले अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना ने किसान आंदोलन से जुड़ी सीएनएन की खबर को रि-ट्वीट करते हुए कहा था कि हम इस पर बात क्यों नहीं करते? उनके इस ट्वीट के बाद से पूरी दुनिया में आंदोलन पर चर्चा होनी लगी. बाद में भारतीय विदेश मंत्रालय ने रिहाना के इस ट्वीट की आलोचना की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here