कांग्रेस ने पूछा, 32.73 रुपये लागत है तो 100 रुपये लीटर क्यों बेच रहे पेट्रोल

0
408
Congress Petrol Akhilesh Yadav

द लीडर : डीजल-पेट्रोल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. मध्यप्रदेश समेत कुछ राज्यों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के भाव तक जा पहुंचा है. इस मुद्​दे पर विपक्ष सरकार को घेर रहा है. शुक्रवार को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार से सवाल किया है कि, आज पेट्रोल की लागत 32.72 रुपये और डीजल की 33.46 रुपये प्रति लीटर है. फिर आप पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर पर क्यों बेच रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने डीजल पर 820 प्रतिशत और पेट्रोल पर 258 प्रतिशित अतिरिक्त एक्साइज ड्यूटी लगा दी है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीटर पर एक रिपोर्ट साझा करते हुए तंज कसा-वो जुमलों का शोर मचाते हैं, हम सच का आईना दिखाते हैं. ट्वीट पर राहुल गांधी ने जो रिपोर्ट शेयर की है. उसके मुताबिक, ‘जून 2014 में जब नरेंद्र मोदी सरकार पहली बार सत्ता में आई, तब ग्लोबल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत 91 डॉलर प्रति बैरल थी. और देश में पेट्रोल 71 रुपये और डीजल 57 रुपये प्रति लीटर के भाव में बिक रहा था.’

रिपोर्ट के मुताबिक ‘लेकिन, अब करीब सात साल बाद ग्लोबल मार्केट में कच्चे तेल का दाम 30 डॉलर प्रति बैरल कम होकर 63 डॉलर प्रति बैरल आ पहुंचा है. फिर भी पेट्रोल सेंचुरी बना रहा है और डीजल उसे चेज कर रहा है.

साल 2021 में अब तक तेल की कीमतें 19 बार बढ़ाई गई हैं. मतलब 45 दिन में 19 बार कीमतों में इजाफा हुआ है. 15 फरवरी 2020 से 15 फरवरी 2021 के बीच पेट्रोल 17.05 रुपये और डीजल 14.8 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है.’


उन्नाव : खेत में बंधक मिलीं दो नाबालिग लड़कियों की मौत कैसे हुई, इस राज का एकमात्र गवाह


 

समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा, कि भाजपा ने हर वर्ग के लोगों को दुखी किया है और किसानों के सामने संकट पैदा कर दिया.

भाजपा ने जो कहा था जब करने का समय आया तो, ऐसा कानून बना दिया, जिससे खेती-किसान संकट में चली जाएगी. पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से महंगाई भी बढ़ती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here