अग्निपथ विरोध के बीच विपक्ष ने सरकार को घेरा : जानिए क्या बोले अखिलेश यादव और मायावती ?

0
49

द लीडर। देशभर में सेना में भर्ती के लिए आई नई योजना अग्निपथ का विरोध लगातार देखने को मिल रहा है। देश के कई राज्यों में बवाल मचा हुआ है। वहीं प्रदर्शनकारियों का कहना है कि, जब तक सरकार इस योजना को वापस नहीं लेगी। तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा।

वहीं अब इस मामले में राजनीतिक दलों के नेताओं ने कूदना शुरू कर दिया है। जहां कई राजनीतिक दलों ने युवाओं के भारत बंद का समर्थन किया है। इसके साथ ही सरकार के खिलाफ राजनीतिक दल सड़कों पर उतर आए हैं। कांग्रेस ने राजधानी दिल्ली में प्रदर्शन किया यहां तक कि, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के शिवाजी ब्रिज पर रोक दिया।


यह भी पढ़ें: Agneepath के विरोध में भारत बंद : देशभर में प्रदर्शन के बीच 529 ट्रेनें रद्द, झारखंड में सभी स्कूल बंद

 

सरकार की तरफ से युवाओं को अग्निपथ योजना के फायदे बताए जा रहे हैं। तो वहीं विपक्ष सरकार को इस मुद्दे पर कटघरे में खड़ा कर रहा है। विपक्ष का कहना है कि, यह योजना युवाओं के लिए सही नहीं है। जिसको लेकर युवा इसका विरोध कर रहे हैं।

देश की सुरक्षा के साथ समझौता न करे सरकार- अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला और लिखा कि, ‘अग्निपथ’ की नीति सरकार ने बनायी है अतः सरकार व सत्ताधारी दल के प्रवक्ता किसी और को आगे न करें। अमीर उद्योपतियों की आय की सुरक्षा से अधिक ज़रूरी है देश की सुरक्षा इसीलिए जो भी बजट कम पड़ रहा है उसके लिए सरकार कॉरपोरेट पर अतिरिक्त कर लगाए परंतु देश की सुरक्षा के साथ समझौता न करे।

वहीं अपने अगले ट्वीट में अखिलेश यादव ने कहा कि, देश के युवाओं में वर्तमान के प्रति निराशा-हताशा और भविष्य के प्रति आशंका-असुरक्षा का भाव, देश के विकास के लिए घातक साबित होता है। सरकारों का दायित्व देश के वर्तमान को सुधारना व भविष्य को सँवारना होता है। भाजपा सरकार का चतुर्दिक विरोध दर्शा रहा है कि भाजपा ने जनाधार खो दिया है।

अग्निपथ योजना के विरोध पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ट्वीट कर कहा कि, अग्निपथ योजना को लेकर बीजेपी नेताओं की भ्रमित करने वाली बयानबाजी तत्काल बंद करने की अपील की है. साथ ही उन्होंने बीजेपी सरकार का जमकर घेराव किया है.

भ्रम पैदा करने वाली संकीर्ण राजनीति तुरन्त बंद हों

केन्द्र की अग्निपथ नई सैन्य भर्ती स्कीम देश की सुरक्षा व फौजी के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान से जुडी होने के बावजूद भाजपा नेतागण जिस प्रकार से अनाप-शनाप व अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं वह घोर अनुचित। जनता में भ्रम व सेना के लिए मुश्किलें पैदा करने वाली संकीर्ण राजनीति तुरन्त बंद हों।

अगले ट्वीट में मायावती ने लिखा कि, देश को अचंभित करने वाली नई ’अग्निपथ’ सैन्य भर्ती योजना, सरकार द्वारा नोटबन्दी व तालाबन्दी आदि की तरह ही, अचानक व काफी आपाधापी में थोपी जा रही है, जिससे प्रभावित होने वाले करोड़ों युवा व उनके परिवार वालों में खासा आक्रोश है। सरकार इनके प्रति भी अहंकारी रवैये से बचे।

अग्निपथ योजना का उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, उत्तराखंड समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। वहीं गिरफ्तारी की खबरें भी सामने आ रही हैं। भारत बंद को लेकर देश भर में सरकार के साथ ही प्रशासन अलर्ट मोड पर है।

अग्निपथ के विरोध में बीजेपी नेता गिरफ्तार

अलीगढ़ के टप्पल इलाके में उत्तर प्रदेश पुलिस ने बीजेपी नेता को गिरफ्तार किया है। बीजेपी नेता पर हिंसक प्रदर्शन के दौरान युवाओं को उकसाने का आरोप लगा है। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अलीगढ़ के टप्पल इलाके में कोचिंग चलाने वाले सुधीर शर्मा बीजेपी के मंडल उपाध्यक्ष है। जो अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। उन पर युवाओं को योजना के खिलाफ युवाओं को उकसाने का आरोप है।


यह भी पढ़ें:  Agneepath के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस : कहा- सेना का भी निजीकरण करना चाहती है सरकार