आला हज़रत के 104वें उर्से रज़वी का आगाज़, बरेली में तीन साल बाद फिर रूहानियत का अनूठा नज़ारा

0
34
Ala Hazrat Urse Razvi
उर्से रज़वी में शामिल अक़ीदतमंद. फ़ाइल फ़ोटो

द लीडर : सुन्नी-बरेलवी मुसलमानों के केंद्र उत्तर प्रदेश के ज़िला बरेली में आला हज़रत के 104वें उर्से रज़वी का आगाज़ हो गया है. तीन साल की सख़्त पाबंदियों के बाद ये उर्स फिर से अपनी रौनक़ हासिल कर रहा है. देश-दुनिया के लाखों अक़ीदतमंद उर्से रज़वी में हाज़िरी के लिए बरेली का रुख़ कर रहे है. दरगाह प्रबंधन से लेकर ज़िला-पुलिस प्रशासन ने व्यवस्थाओं का खाका खींच दिया है. तीन दिन तक बरेली में अक़ीदत और रूहानियत का अनूठा नज़ारा दिखाई देगा. (Ala Hazrat Urse Razvi)

आला हज़रत की दरगाह शहर के मुहल्ला सौदागरान में है. लेकिन उर्स का प्रमुख मंच इस्लामिया इंटर कॉलेज मैदान है. जो ज़ायरीन की रौनक से गुलज़ार हो गया है. इसी मैदान में उर्से रज़वी की सभी रस्में अदा की जाती हैं.

उर्से रज़वी की तारीख़ 21, 22 और 23 सितंबर है. आख़िरी दिन यानी 23 सितंबर को दोपहर 2:38 बजे कुल होगा. मंच पर दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रज़ा ख़ान-सुब्हानी मियां, सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन रज़ा क़ादरी-अहसन मियां के अलावा आला हज़रत ख़ानदान के तमाम बुज़ुर्ग, उलमा और आला हज़रत के पीर घराने के मेहमान होंगे. (Ala Hazrat Urse Razvi)


इसे भी पढ़ें-“बलात्कार के आरोपी शादीशुदा मुस्लिम हैं तो उन्हें ज़मीन में गाड़कर पत्थर से मारना चाहिए”-सांसद एसटी हसन


 

उर्से रज़वी का दूसरा मंच मथुरापुर स्थित मदरसा जामियातुर्रज़ा है. यहां दरगाह ताजुश्शरिया के सज्जादानशीन मुफ़्ती असजद रज़ा ख़ान-असजद मियां की सरपरस्ती में उर्से रज़वी के तमाम कार्यक्रम होंगे. जामियातुर्रज़ा में भी भव्य मंच सजाया गया है. जमात रज़ा-ए-मुस्तफ़ा के उपाध्यक्ष सलमान हसन ख़ान और महासचिव फरमान हसन ख़ान की निगरानी में उर्स की व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं.

आला हज़रत ख़ानदान की सबसे बुज़ुर्ग शख़्सियत मौलाना मन्नान रज़ा ख़ान-मन्नानी मियां की सरपरस्ती में मदरसा जामिया नूरिया रज़विया में कार्यक्रम होंगे. जहां ख़ानक़ाहों के बुज़ुर्गों के अलावा कई नामवर उलमा भी शामिल होने पहुंच रहे हैं. (Ala Hazrat Urse Razvi)

चूंकि तीन साल बाद उर्से रज़वी पूरी शानो शौक़त के साथ मनाया जा रहा है, तो इसको लेकर ख़ानदान के सभी बुज़ुर्ग इसे यादगार बनाने में जुटे हैं. इस्लामिया ग्राउंड और मथुरापुर स्थित मदरसा जामियातुर्रज़ा का बरेली के उच्च प्रशासनिक अधिकारी जायज़ा ले चुके हैं.

उर्स स्थलों पर पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर ब्रीफिंग भी की है. एक दिन पहले ही बरेली कमिश्नर, एडीजी, आईजी, डीएम और एसएसपी ने इस्लामिया और जामियातुर्रज़ा का जायज़ा लिया था. उर्स की व्यवस्थाएं देखीं.

दरगाह आला हज़रत के मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी ने कहा कि उर्स में आने वाले ज़ायरीन के लिए पुख़्ता व्यवस्थाए हैं. उनके खाने-पीने, ठहरने का बंदोवस्त है. (Ala Hazrat Urse Razvi)

जमात रज़ा-ए-मुस्तफ़ा के मीडिया प्रभारी समरान ख़ान ने कहा कि मथुरापुर में उर्स की तैयारियां मुकम्मल की जा चुकी हैं. हमेशा की तरह आला हज़रत का उर्स पूरे एहतराम के साथ मनाया जाएगा.


(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)