अमेरिकी राष्ट्रपति ने जताई उम्मीद ,इज़राइल-हमास संघर्ष में लगेगा युद्धविराम-पढ़ें

0
44

द लीडर हिंदी : इस्राइल और हमास के बीच पांच महीने से अधिक समय से युद्ध जारी है. इस जंग में जाने कितनों ने अपनी जान गवा दी. लेकिन अब खबर आ रही है ये युद्ध रूक सकता है. 27 फरवरी को इस्राइल-हमास जंग पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने उम्मीद जताई है कि ‘अगले सोमवार तक गाजा में युद्ध थम जाएगा. बता दें अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने उम्मीद जताते हुए कहा कि गाज़ा में अगले हफ्ते की शुरुआत के साथ ही सीजफायर की घोषणा हो सकती है.

फिलिस्तीनी क्षेत्र में बढ़ते मानवीय संकट के बीच, मिस्र, कतर, संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस और अन्य जगहों के प्रतिनिधियों ने इजरायल और हमास के बीच मध्यस्थ के रूप में काम किया है, जो लड़ाई को रोकने और गाजा में रखे गए इजरायली बंधकों की रिहाई की मांग कर रहे हैं.सोमवार को जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि उन्हें कब संघर्ष विराम की उम्मीद है, तो उन्होंने कहा,” सप्ताहांत तक, मेरे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मुझसे कहते हैं कि हम इसके करीब हैं। मुझे उम्मीद है कि अगले सोमवार तक संघर्ष विराम हो जाएगा.

बता दें सात अक्तूबर को हमास के आतंकियों ने इस्राइल पर हमला कर कई सैकड़ों लोगों को बंधक बना लिया था. जिसके बाद, इस्राइल ने कड़ी जवाबी कार्रवाई और समझौता कर अपने कुछ लोगों को रिहा करा लिया था.वही अब एक बार फिर जंग थोड़े समय के लिए रुक सकती है. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने उम्मीद जताई है कि अगले सोमवार तक इस्राइल और हमास के बीच युद्धविराम हो जाएगा. उन्होंने माना है कि दो पक्ष संघर्ष विराम समझौते के करीब हैं.

जो बाइडन ने गाजा में संघर्ष विराम के सवाल पर कहा, ‘मेरे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने मुझसे कहा है कि हम इसके करीब हैं और मेरी उम्मीद है कि अगले सोमवार तक हम युद्धविराम कर लेंगे. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम इसके नजदीक हैं, लेकिन यह अभी तक पूरा नहीं हुआ है। अभी इस पर फाइनल मुहर लगना बाकी है.

गौरतलब है, इससे एक दिन पहले ही व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने बताया था कि, ‘इस्राइल, अमेरिका, मिस्र और कतर के प्रतिनिधियों ने पेरिस में मुलाकात की. इस दौरान अस्थायी संघर्षविराम के बदले हमास द्वारा बनाए गए बंधकों को रिहा करने पर चारों के बीच सहमति बन गई है.

सात अक्तूबर से जारी जंग,सैकड़ों मिसाइलों को दागा गया
गौरतलब है, हमास ने बीते साल सात अक्तूबर को दक्षिण इस्राइल पर हमला किया था. एक साथ सैकड़ों मिसाइलों को दागा गया था. साथ ही जमीनी हमला भी किया गया था.आतंकवादियों ने 1200 इस्राइली नागरिकों की हत्या कर थी. इसके अलावा, 250 लोगों को बंधक बना लिया था. जिनमें से आधे अभी भी हमास के कब्जे में हैं. वहीं, युद्ध में इस्राइली सेना ने गाजा के बड़े हिस्से को तबाह कर दिया है.

ये पढ़ें-https://theleaderhindi.com/another-big-blow-to-sp-amid-rajya-sabha-elections-three-more-mlas-rebelled-along-with-manoj-pandey/

करीब 24 हजार फलस्तीनी मारे जा चुके हैं.वही इस्राइल के आक्रमण के बाद से गाजा की 23 लाख की आबादी में 85 फीसदी लोग अपने घरों से विस्थापित हो चुके हैं. एक चौथाई आबादी भुखमरी का सामना कर रही है.हमास के हालात काफी बुरे है.लोग यहां खान-पान को तरस रहे है. ऐसे में ये खबर उनके लिये कुछ राहत ला सकती है.