यूपी विधानसभा सत्र : मंत्री मुझे उस दुकान के बारे में बता दें जहां 1100 रूपए में बच्चों की दो ड्रेस आ सकें : अखिलेश यादव

0
214

द लीडर। आज यूपी विधानसभा के बजट सत्र का दूसरा दिन है. यूपी विधानसभा में दूसरे दिन बच्चों के स्कूल ड्रेस और उसके लिए दी जाने वाली 1100 रूपए की राशि का मुद्दा उठा. इसकी शुरूआत रामपुर खास से विधायक आराधना मिश्रा मोना ने की.

उन्होंने कहा कि, डीबीटी के माध्यम से सरकार हर बच्चों को 1100 रूपए देती है. इस राशि में दो ड्रेस, जूते, मोजे और किताब-कॉपी मिल पाना बिल्कुल असंभव है. लेकिन बाद में इस मुद्दे को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी उठाया तो मामला गर्म हो गया.

डीबीटी के जरिए हर बच्चों को 1100 रूपए देती है सरकार 

पहले ड्रेस के मामले को लेकर विधायक आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि, डीबीटी के माध्यम से सरकार हर बच्चों को 1100 रूपए देती है. इस राशि में दो ड्रेस, जूते, मोजे और किताब-कॉपी मिल पाना बिल्कुल असंभव है.


यह भी पढ़ें: अब नहीं बचेंगे सिख विरोधी दंगे के आरोपी : जल्द होगी गिरफ्तारी, एसआईटी के डीजी ने CM योगी को सौंपी रिपोर्ट

 

वहीं इसके जवाब में बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि, सरकार 1100 रूपए केवल दो ड्रेस, दो जूते, दो मोजे और बैग के लिए देती है. इसमें किताब और कॉपी शामिल नहीं है.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पूछा ये सवाल

इस मुद्दे पर बहस के बीच अखिलेश यादव ने भी कई सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि, मंत्री मुझे उस दुकान के बारे में बता दें यहां 1100 रूपए में बच्चों की दो ड्रेस आ सकें.

समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव ने सवाल करते हुए कहा कि, कही बच्चों की डीबीटी बंद तो नहीं कर दी गई. सपा प्रमुख के इस सवाल का जवाब देने के लिए मंत्री सुरेश खन्ना खड़े हुए.

वहीं मंत्री ने कहा कि, ना बंद करेंगे, ना बंद करने का कोई इरादा है. साथ ही साथ हर जिले में ऐसी सुविधा हैं. तब बीच में ही अखिलेश यादव खड़े हो गए और उन्होंने कहा कि, ये तो डबल इंजन की सरकार है, आपको एक हजार रूपए वाली ड्रेस बच्चों को देनी चाहिए, क्यों नहीं खरीदवार रहे आप. इस दौरान उन्होंने ड्रेस की क्वालिटी पर भी सवाल उठाया.

विधानसभा में दिवंगत नेताओं और लोकप्रिय हस्तियों को श्रद्धांजलि

यूपी विधानसभा के दूसरे दिन दिवंगत नेताओं और देश की लोकप्रिय हस्तियों को श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान भारत रत्न लता मंगेशकर को भी विधानसभा में श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी. सबसे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिवंगत लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी.

छोटे विधानसभा सत्र को लेकर उठा प्रश्न

वहीं यूपी विधानसभा के दूसरे दिन ऊंचाहार विधान सभा सीट से विधायक मनोज कुमार पांडे ने इस बार छोटे विधानसभा सत्र को लेकर प्रश्न उठाया. उन्होंने कहा कि, ये विधानसभा सत्र 23 मई से 31 मई तक होगा. लेकिन हर साल विधानसभा का तीन सत्रों में मिलाकर 90 दिन का सत्र होता रहा है. पूर्व में करीब हर साल बजट सत्र 30 दिनों का रहा है, ऐसे में ये बजट सत्र भी 30 दिनों का होना चाहिए.


यह भी पढ़ें:  Qutub Minar Case: कुतुब मीनार परिसर में हैं हिंदू और जैन देवी देवताओं की मूर्तियां : याचिका में दावा