यूपी में टैक्स फ्री हुई ‘द केरला स्टोरी’, सीएम योगी 12 मई को कैबिनेट संग देखेंगे फिल्म

0
195

द लीडर हिंदी: ‘द केरला स्टोरी’ फिल्म को लेकर इन दिनों सियासी दलों में घमासान छिड़ी हुई है. पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर विपक्षी दलों के कई बड़े नेताओं के फिल्म को लेकर बयान सामने आ चुके हैं. भाजपा शासित कई राज्यों में फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया गया है. पढ़िए विवाद शुरू होने से लेकर अब तक पूरी कहानी.

अब उत्तर प्रदेश में भी फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ को टैक्स फ्री कर दिया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है. सीएम योगी पूरी कैबिनेट के साथ 12 मई को फिल्म भी देखेंगे.

ब्रेनवॉश करके धर्मांतरण कराने पर बनी फिल्म

‘द केरला स्टोरी’ फिल्म ब्रेनवॉश करके युवतियों का धर्मांतरण कराने की कहानी पर बनी है. फिल्म को विपुल अमृतलाल शाह की कंपनी सनशाइन पिक्चर्स ने बनाया है.

सनशाइन पिक्चर्स ने फिल्म के टीजर को यूट्यूब पर जब 2022 में पोस्ट किया तो उसमें अभिनेत्री अदा शर्मा को ये कहते दिखाया गया था कि केरल की 32 हजार युवतियों ने धर्म बदलकर इस्लाम कबूल कर लिया और फिर इराक और सीरिया जाकर आतंकी संगठन ISIS जॉइन कर लिया.

फिल्म में अदा शर्मा मुख्य भूमिका में हैं. हालांकि, बाद में फिल्म के ट्रेलर के डिस्क्रिप्शन में वो दावा नहीं किया गया, जो टीजर में था. ट्रेलर में 32 हजार महिलाओं की जगह पर महज तीन लड़कियों की कहानी दिखाने का दावा किया गया.

ये है फिल्म की कहानी

‘द केरला स्टोरी’ फिल्म शालिनी, नीमा और गीतांजलि नाम की तीन लड़कियों की कहानी दिखाती है, जो घर से दूर एक कॉलेज जाती हैं. फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे आसिफा नाम की लड़की अपने साथियों के साथ मिलकर इन तीन लड़कियों का ब्रेनवॉश करती है और उन्हें इस्लाम कबूल करने के लिए उकसाती है.

पीएम मोदी ने थी फिल्म पर टिप्पणी

कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ‘द केरला स्टोरी’ पर टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि केरल में चल रही आतंकी साजिश का खुलासा इस फिल्म में किया गया है. इस सिनेमा का भी कांग्रेस ने विरोध किया.’

इसलिए छिड़ा है फिल्म को लेकर विवाद

फिल्म के टीजर में 32 हजार लड़कियों के धर्म परिवर्तन की बात कही गई थी. फिल्म के डायरेक्टर सुदीप्तो सेन से एक इंटरव्यू में इस पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ‘2010 में केरल के तत्कालीन सीएम ओमन चांडी ने विधानसभा में एक रिपोर्ट पेश की थी कि हर साल लगभग 2,800 से 3,200 लड़कियां इस्लाम धर्म कबूल रही हैं. अगले 10 सालों का हिसाब लगा लें तो ये संख्या 30 से 32 हज़ार होती है.’

मगर मामले की जांच में उनके जबाव के फैक्ट सही नहीं मिले. क्योंकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केरल के पूर्व सीएम ओमन चांडी ने 2010 में नहीं, बल्कि 25 जून 2012 को बयान दिया था. वो भी विधानसभा में नहीं, बल्कि कोर्ट में.

इस मसले पर छपी मीडिया रिपोर्ट में भी यह लिखा है कि ओमन चांडी ने हर साल नहीं, बल्कि साढ़े छह साल में 2,667 लड़कियों के इस्लाम धर्म कबूल करने की बात कही थी.

साथ ही महिलाओं के ISIS में शामिल होने पर ओमन चांडी ने कुछ नहीं बोला था. इससे साफ है कि केरल में 32 हजार लड़कियों के इस्लाम धर्म कबूल करने का कोई मजबूत साक्ष्य नहीं है.

बंगाल और तमिलनाडु में फिल्म पर रोक

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जैसे राज्य ने फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया है, लेकिन पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु की सरकारों ने इस पर रोक लगा दी है. पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने फिल्म को बैन कर दिया है. वहीं, तमिलनाडु में भी फिल्म के शो कैंसिल कर दिए गए हैं.

फिल्म निर्माता को फांसी देने की मांग

एनसीपी नेता जितेंद्र अव्हाड ने मंगलवार को फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ के निर्माता को सबके सामने फांसी देने की मांग की है. न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, एनसीपी नेता ने कहा कि ‘द केरला स्टोरी’ फिल्म के जरिये एक राज्य और उसकी महिलाओं को बदनाम किया गया है. जिसने यह काल्पनिक फिल्म बनाई हो, उसको सार्वजनिक रूप से फांसी दी जानी चाहिए.’

फिल्म के क्रू मेंबर को मिली धमकी

उधर, फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ के क्रू मेंबर को एक अज्ञात नंबर से धमकी भरा संदेश मिला है. मुंबई पुलिस के अनुसार, फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ के निर्देशक सुदीप्तो सेन ने शिकायत की है कि क्रू मेंबर्स में से एक को एक अनजान नंबर से मैसेज आया है. मैसेज में घर से अकेले बाहर नहीं निकलने की धमकी दी गई है. साथ ही कहा गया है कि कहानी दिखाकर अच्छा काम नहीं किया है.