दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम के हाथ रामपुर की कमान, सपा ने लोकसभा चुनाव में नदवी को प्रत्याशी चुना

0
28

द लीडर हिंदी : उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर दमखम से चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे अखिलेश यादव के लिए रामपुर सीट गले की फांस बनी हुई थी.क्योकि इस सीट पर सपा के कद्दावर नेता आज़म खान सियासी रसूख रखे थे. कुछ दिनों से इस सीट पर कौन उम्मीदवार उतरेगा इसकी तस्वीर साफ नहीं हो पा रही थी.क्योकि इस सीट पर आज़म खान का कब्जा होता था. आज़म खान जेल में है. ऐसे में रामपुर से आज़म ख़ान का कंडीडेट मैदान में नहीं आएगा. इस बात पर सस्पेंस बना था.लेकिन अब रामपुर में सपा प्रत्याशी को लेकर असमंजस के बादल छट गए हैं. रामपुर लोकसभा सीट पर मोहिबुल्लाह नदवी को मैदान में उतारा है. उधर, रुचि वीरा भी मुरादाबाद पहुंच चुकीं हैं. इससे पहले रामपुर और मुरादाबाद में सपा प्रत्याशियों को लेकर सभी की निगाहें लगी हुई थी.

मुरादाबाद में डॉ. एसटी हसन ने नामांकन करवा दिया है. इस बीच उनका टिकट कटने की चर्चा जोरों पर है. मंगलवार शाम को तेज प्रताप सिंह यादव के रामपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की बात सामने आ रही थी.

मिली जानकारी के मुताबीक समाजवादी पार्टी ने रामपुर लोकसभा सीट से अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है. सूत्रों के मुताबिक सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सपा-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम मुहिब्बुलाह को रामपुर से टिकट दिया है.

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सपा-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम मुहिब्बुलाह को रामपुर से टिकट दिया है.वही रामपुर लोकसभा सीट से एसटी हसन को उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें लगाई जा रही थी लेकिन मुहिब्बुलाह के नाम के एलान के बाद सभी अटकलों पर विराम लग गया है.

बता दें रामपुर लोकसभा सीट से एसटी हसन को उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें लगाई जा रही थी. लेकिन मुहिब्बुलाह के नाम के एलान के बाद सभी अटकलों पर विराम लग गया है. सपा प्रत्याशी मुहिब्बुलाह आज लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन भरेंगे. खबर के मुताबीक दिल्ली से वह देर रात रामपुर पहुंच गए थे. हालांकि टिकट मिलने की आधिकारिक घोषणा अभी बाकि है, कुछ ही देर में घोषणा की जा सकती है.

मोहिबुल्लाह नदवी दिल्‍ली की जामा मस्जिद में शाही इमाम हैं
आपको बता दें कुछ दिनों में लोकसभा चुनाव होना है. जिसके चलते सपा के तरह से मोहिबुल्लाह नदवी को रामपुर से उतारा गया है. वह मूल रूप से इसी जिले के रहने वाले हैं.मौलाना नदवी पिछले 15 सालों से दिल्‍ली की जामा मस्जिद में शाही इमाम हैं.

बता दें साल 2019 के लोकसभा चुनाव में रामपुर से आजम खां ने जीत हासिल की थी.लेकिन बाद में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद हुए उपचुनाव में भाजपा के घनश्याम लोधी ने यहां से जीते थे. इस बार भी बीजेपी ने घनश्याम लोधी को ही रामपुर से टिकट दिया है.अब कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी.सपा ने मोहिबुल्लाह नदवी पर रामपुर से दाव खेला कितना फायदा पहुंचा सकता है. बता दें जब लोकसभा चुनावों की बात होती है तो उत्तर प्रदेश का राजनीतिक महत्व काफी बढ़ जाता है. क्योंकि यूपी से लोकसभा के 80 सांसद चुनकर आते हैं.केंद्र में किसकी सरकार बनेगी इसमें यूपी की भूमिका काफी अहम होती है .

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/azam-khans-announcement-of-rebellion-mughal-azam-in-rampur-what-will-happen-till-3-oclock/