एएमयू में बोले पीएम मोदी, सियासत-सत्ता की सोच से व्यापक देश का समाज

0
561

द लीडर : अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने तमाम स्वतंत्रता सेनानी दिए. वो दौर गुलामी से आजादी की जंग का था. आज की नई पीढ़ी के पास नये भारत के निर्माण का अवसर है. मेरी अपेक्षा है कि नौजवान अपने हर फैसले में देशहित को आधार बनाएं. पिछली शताब्दी में मतभेदों के कारण काफी समय बर्बाद हो चुका है. अब, हम सबको मिलकर एक धरातल पर काम करना है. AMU के 100 साल पूरे पर आयोजित शताब्दी समारोह को ऑनलाइन संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये संदेश दिया.PM Modi AMU Politics

एएमयू कैंपस का फाइल फोटो: साभार सोशल मीडिया

पीएम मोदी ने कहा कि हमें समझना होगा कि सियासत समाज का अहम हिस्सा है. हां, सियासत और सत्ता की सोच से व्यापक देश का समाज होता है. उसका अन्वेषण करते रहना जरूरी है. सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का वाक्य दोहराया. बोले सरकार की सभी योजनाओं का लाभ समाज के हर वर्ग को बिना किसी भेदभाव के मिल रहा है. हमारी सरकार की कोशिश है कि देश का हर नागरिक अपने संवैधानिक अधिकार के साथ जिए. मजहब के कारण कोई पीछे न छूटने पाए. पीएम ने तीन तलाक के खात्मे भी जिक्र किया. इससे पहले शिक्षा मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने भी एएमयू को विविधता का प्रतीक बताता और एएमयू का तराना भी गुनगुनाया. चांसलर डा. सय्यदना मुफद्​दल ने इल्म हासिल करने के साथ उस पर अमल करने का पैगाम दिया. कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने संचालन किया.

एएमयू कैंपस का फाइल फोटो: साभार सोशल मीडिया

एक करोड़ मुस्लिम बेटियों को बांटी छात्रवृत्ति

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में मुस्लिम समाज की बेटियों की तालीम पर विशेष जोर दिया. उन्होंने कहा कि छह साल पहले करीब 70 प्रतिशत मुस्लिम बेटियां स्कूल छोड़ देती थीं. इसलिए क्योंकि विद्यालयों में शौचालय नहीं थे. स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्कूलों में शौचालय बनें, तो यह आंकड़ा घटकर महज 30 प्रतिशत ही रह गया. हमारी सरकार ने छह सालों में करीब एक करोड़ मुस्लिम बेटियों को स्कॉलरशिप दी है. बोले, आधुनिक भारत में बेटियों का पढ़ना इसलिए भी जरूरी है ताकि वे आत्मनिर्भर हों और आर्थिक रूप से सशक्त बन सकें. तभी परिवार के हर फैसले में उनकी राय शामिल हो पाएगी. सभी स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय महिलाओं की शिक्षा पर विशेष कार्य करें. PM Modi AMU Politics

एएमयू कैंपस का फाइल फोटो: साभार सोशल मीडिया

भारत की संस्कृति का प्रधिनिधित्व करता एएमयू

पीएम ने कहा कि एएमयू भारत की सांस्कृतिक विविधता का प्रीतक है. यहां उर्दू है तो हिंदी विभाग भी, अरबी और संस्कृत भी पढ़ाई जाती है. पुस्तकालय में कुरान है तो गीता और रामायण भी रखी हैं. एएमयू को विविधता का प्रतीक बताते हुए कहा कि ये संस्थान भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करता है. ये विविधता हमारे देश की ताकत है, जिसे बनाए रखना है.

एएमयू कैंपस का फाइल फोटो: साभार सोशल मीडिया

सर सय्यद की सोच को साकार करने का संदेश

एएमयू के संस्थापक सर सय्यद अहमद के एक कथन का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘सर सय्यद कहते थे कि अपने देश की चिंता करने वाले का पहला फर्ज सभी के कल्याण के लिए काम करना है.’ इसे आत्मसात करते हुए राष्ट्रनिर्माण में योगदान निभाएं. PM Modi AMU Politics


इसे भी पढ़ें : यूपी सरकार के विकास मॉडल पर बहस करने


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here