पीलीभीत : सांसद वरुण गांधी ने दो बहनों के हत्याकांड की निष्पक्ष जांच के लिए डीजीपी को लिखा पत्र

0
148
Pilibhit Varun Gandhi DGP Murder Two Sisters

द लीडर : उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में दो सगी बहनों की हत्या के मामले में सांसद वरुण गांधी ने पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच की मांग की है. इस हत्याकांड में लड़कियों का परिवार आरोपी है. जिसमें लड़की की मां, दो भाईयों समेत एक भट्टा मालिक को पुलिस जेल भेज चुकी है. इस हत्याकांड का खुलासा किए जाने के बाद एसपी जयप्रकाश का तबादला हो चुका है. (Pilibhit Varun Gandhi DGP Murder Two Sisters)

बीसलपुर : घटनास्थल का मुआयना करने के बाद जांच करते पुलिस अधिकारी, आइजी राजेश पांडेय, एसपी पीलीभीत जय प्रकाश व अन्य

घटना 22 फरवरी की है. बीसलपुर के थाना बिलसंडा क्षेत्र स्थित ईंट भट्टा पर काम करने वाली दो बहनों की हत्या हो गई थी. पुलिस के मुताबिक 22 फरवरी की रात करीब 9 बजे 16 वर्षीय छोटी बेटी का शव खेत में मिला था. जबकि अगले दिन 23 फरवरी की सुबह को दूसरी बेटी का शव पेड़ से लटका पाया गया.

तत्कालीन एसपी जय प्रकाश ने घटना की जानकारी देते हुए कहा था कि परिवार ने पुलिस को तब तक सूचित नहीं किया, जब तक दूसरी बेटी का शव नहीं मिल गया. हत्याकांड के बाद बरेली क्षेत्र के आइजी राजेश कुमार पांडेय ने भी घटनास्थल का दौरा किया था.

परिवार की शिकायत में दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप

परिवार की ओर से बीसलपुर थाना प्रभारी को एक शिकायती पत्र दिया गया था. जिसमें आरोप था कि भट्टा स्वामी और ठेकेदार ने उनकी 19 साल की बड़ी बेटी के साथ दुष्कर्म किया. इसे उनकी 16 साल की छोटी बेटी ने देख लिया. दोष छिपाने के लिए छोटी बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी. और हत्या का सबूत मिटाने के लिए बड़ी बेटी को मारकर लिप्टिस के पड़ से लटका दिया गया.


पीलीभीत : खेत में मिले दो सगी बहनों के शव, पुलिस को परिवार पर हत्या का शक-कुछ सबूत भी मिले


 

परिवार के इस आरोप के उलट पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कहा कि उनके गले पर चोट के सिवा कोई दूसरा निशान नहीं मिला है. और न ही दुष्कर्म की पुष्टि हुई. पुलिस ने तीन दिन तक जांच के बाद सुबूत जुटाए और उसमें परिवार को आरोपी बनाया है.

25 मार्च को एसएसपी ने इस घटनाक्रम का खुलासा करते हुए कहा था कि लड़कियों की हत्या परिवार ने की है. तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. परिवार इसलिए नाराज था कि लड़कियां फोन से बात करती थीं.

लेकिन परिवार के कुछ लोग पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है. इसलिए वे दोबारा जांच की मांग उठा रहे हैं. इसी कड़ी में सांसद ने यूपी पुलिस से दोबारा निष्पक्ष जांच की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here