Pakistan Bomb Blast: पाकिस्तान के कराची यूनिवर्सिटी में बम धमाका : 5 लोगों की मौत, कई घायल

0
160

द लीडर। एक बार फिर पाकिस्तान में बम धमाका हुआ है. पाकिस्तान की कराची यूनिवर्सिटी में ब्लास्ट होने से 5 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों के घायल होने की आशंका जताई जा रही है.

पाकिस्तान की स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह धमाका कराची यूनिवर्सिटी के कन्फ्यूशियस संस्थान के पास एक वैन में हुआ है. धमाके के बाद वैन में आग लग गई.

धमाके में 5 लोगों की मौत की पुष्टि  

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट में कराची यूनिवर्सिटी के कन्फ्यूशियस संस्थान के पास एक वैन में हुए धमाके में 5 लोगों की मौत की पुष्टि की है, जबकि 2 लोग घायल बताए जा रहे हैं. कराची यूनिवर्सिटी कैंपस में लगी आग का जो वीडियो सामने आया, उसमें एक सफेद वैन आग की लपटों के साथ नजर आ रही है.


यह भी पढ़ें: योगी सरकार की सख्ती के बाद यूपी में धार्मिक स्थलों पर लगे 17 हजार लाउडस्पीकरों की आवाज की गई कम

 

विस्फोट के बाद बचाव और सुरक्षा एजेंसियां ​​मौके पर पहुंचीं है. पूरे इलाके की घेराबंदी की गई है. इसके साथ ही बचाव और राहत अभियान जारी है.

हालांकि, पुलिस ने विस्फोट की प्रकृति के बारे में किसी भी जानकारी की पुष्टि या खंडन अभी नहीं किया है. सूत्रों ने बताया कि पीड़ित कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट से लौट रहे थे. ये कराची यूनिवर्सिटी में एक चीनी भाषा शिक्षण केंद्र है.

घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया

रिपोर्ट के मुताबिक, दो विदेशी अपने गेस्ट हाउस से विभाग की ओर जा रहे थे जहां वैन में विस्फोट हो गया. पूर्वी पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) मुकद्दस हैदर ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि, इस बारे में फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है.

इस बीच, गुलशन के पुलिस अधीक्षक (एसपी) ने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि विस्फोट आतंकवादी कृत्य था या फिर हादसा. मौके पर बम निरोधक दस्ते को बुलाया गया है. वही घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

क्या है वैन में धमाके का कारण?

स्थानीय पुलिस का कहना है कि, वैन में धमाका और आग प्राकृतिक कारणों से लगी है. एसपी गुलशन ने कहा कि, धमाके की आवाज बहुत तेज थी, इसलिए बम निरोधक दस्ते को भी मौके पर बुलाया गया था, लेकिन यह सब प्राकृतिक कारणों से ही हुआ है.


यह भी पढ़ें:  जहांगीरपुरी हिंसा पर GIA की फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट : लोगों को कट्टरपंथी बना रहे मदरसे, सम्पत्तियों पर किया जा रहा कब्जा