नेपाल सरकार ने भारत समेत 11 देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया, जानें इसके पीछे की वजह

0
37

द लीडर हिंदी: नेपाल सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए भारत समेत 11 देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया लिया है.नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दाहाल प्रचंड के दिल्ली आने से पहले नेपाल सरकार ने भारत और अमेरिका समेत 11 देशों में काम कर रहे अपने राजदूतों को वापस बुला लिया है.ये राजदूत नेपाली कांग्रेस के कोटे से नियुक्त हुए थे. पुष्प कमल दाहाल प्रचंड की सरकार की ओर से कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (यूमाले) के साथ गठबंधन के तीन महीने बाद ये फैसला किया गया है.

इससे पहले प्रचंड की पार्टी नेपाली कांग्रेस के साथ गठबंधन में थी. ‘काठमांडू की ख़बर के हवाले से कहा है कि भारत में नेपाल के राजदूत डॉ. शंकर शर्मा, अमेरिका में राजदूत श्रीधर खत्री समेत ब्रिटेन, उत्तर कोरिया, क़तर, स्पेन, डेनमार्क, इसराइल, सऊदी अरब, मलयेशिया और पुर्तगाल में नेपाल के राजदूतों को वापस बुला लिया गया है.

उप प्रधानमंत्री और विदेश मामलों के मंत्री नारायण काजी श्रेष्ठ की आपत्तियों के बावजूद, नेपाल सरकार ने गुरुवार को राजदूतों को वापस बुला लिया. इनमें भारत में तैनात नेपाल के राजदूत शंकर शर्मा भी शामिल हैं.नेपाल सरकार ने यह कदम नेपाली प्रधानमंत्री प्रचंड की रविवार को भारत की संभावित यात्रा से पहले उठाया है। जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने भारत आ सकते हैं.