लीसेस्टर में क्रिकेट प्रशंसक दो समूहों में सांप्रदायिक टकराव से सन्न रह गया ब्रिटेन

0
48
Leicester Hindu Muslim Confrontation
ब्रिटेन के लीसेस्टर शहर में विवाद के दरम्यान कीे तस्वीरें. साभार इंटरनेट

द लीडर : लंदन का नज़दीकी शहर लीसेस्टर दो दिन अशांत रहा. युवाओं की एक बेक़ाबू भीड़ ने सड़कों पर उत्पात मचाया. दो गुटों में झड़प हुई. कोई घायल तो नहीं हुआ, लेकिन हालात काफ़ी तनावपूर्ण हैं. टकराव की वजह एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट है. और झगड़ने वाले हिंदू-मुसलमानों के दो गुट हैं. जिसने दोनों संप्रदायों के स्थानीय शांतिप्रय लोगों को बेचैन कर दिया है. लीसेस्टर पुलिस के मुताबिक, अब तक 15 लोगों को अरेस्ट किया गया है. और स्थिति कंट्रोल में है. (Leicester Hindu Muslim Confrontation)

28 अगस्त को दुबई में एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट हुआ था. भारत-पाकिस्तान प्रशंसकों के बीच इसी को लेकर विवाद हो गया था. जो इतना बढ़ गया कि लीसेस्टर की सांप्रदायिक हिंसा तक लगातार सुलगता रहा. बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक 28 अगस्त के बाद से लगातार टकराव की छिटपुट घटनाएं घटती रहीं.

शनिवार को हालात ज़्यादा बिगड़ गए. जब हुडी पहने, मास्क और हेलमेट लगाए क़रीब 200 लोगों की भीड़ ने मार्च किया. और मेल्टन रोड पर एक धार्मिक इमारत से झंडा उतारने की फ़ुटेज सामने आया. कई वीडियो भी आए हैं, जिसमें भीड़ नारेबाज़ी करते देखी जा रही है. मारपीट और चीख़ने-चिल्लाने के भी एक-दो वीडियो सामने आए हैं. (Leicester Hindu Muslim Confrontation)


इसे भी पढ़ें-सिर तन से ज़ुदा’ की धमकी निकली फ़र्जी, तूफ़ान मचाने वाले डॉक्टर अरविंद का झूठ बेनक़ाब


 

इस विवाद के बाद दोनों पक्षों के समर्थक इंटरनेट पर एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. द गार्डियन की रिपोर्टर आयना जे ख़ान ने लीसेस्टर विवाद की ग्राउंड रिपोर्ट कवर की है. कुछ प्रदर्शनकारियों का इंटरव्यू किया है, जिसमें एक-दो काफ़ी उत्तेजित और आक्रामक नज़र आ रहे हैं.

लीसेस्टर हिंसा को लेकर बहुत सारे सवाल उठाए जा रहे हैं. और हिंसा के पैटर्न पर चिंता देखने को मिल रही है. दूसरी तरफ़ दोनों कम्युनिटीज़ के तमाम शांतिप्रय लोग, इस आग को बुझाने की कोशिशों में लगे हैं. समाज के बुजुर्ग़ लोग नौजवानों को समझा रहे हैं. शांति और अंहिसा का संदेश दे रहे हैं. (Leicester Hindu Muslim Confrontation)

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस टकराव में शामिल अधिकांश लोग 20 से 25 साल के युवा हैं. क्रिकेट में किसी टीम की हार जीत पर पहले भी यहां संवेदनशीलता रही है. लेकिन ऐसे हालात पहले नहीं बने.

इस विवाद के बाद लीसेस्टर पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा है कि, हमारे स्थानीय समुदायों में ये अशांति बर्दाश्त नहीं है. किसी भी कीमत पर हमें हिंसा और अशांति मंज़ूर नहीं है. हम संवाद बनाकर शांति की अपील करते हैं. पुलिस गहनता से जांच कर रही है. (Leicester Hindu Muslim Confrontation)


(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)