जम्मू-कश्मीर में 551 दिन बाद इंटरनेट 4-जी सेवा बहाल, उमर अब्दुल्ला ने दी मुबारकबाद

0
502
Internet 4g Service Jammu Kashmir

द लीडर : जम्मू-कश्मीर में 18 महीने बाद इंटरनेट की 4-जी सेवा बहाल हो गई है. अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया था. तब से ही घाटी में 4-जी सेवा बंद थी. शुक्रवार को नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्लाह ने इंटरनेट सेवा बहाली पर एक ट्वीट कर मुबारकबाद दी है. करीब 551 दिनों तक जम्मू-कश्मीर को इंटरनेट की हाईस्पीड सेवा से वंचित होकर 2-जी पर आश्रित रहना पड़ा है. (Internet 4g Service Jammu Kashmir)

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रवक्ता रोहित कंसल ने शुक्रवार की रात एक ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में 4-जी इंटरनेट सेवा बहाल की जा रही है. हालांकि इससे पहले घाटी में इंटरनेट सेवा बहाली का ट्रायल होता रहा है.

घाटी का एक दृश्य

कोविड-19 के समय पूरा देश लॉकडाउन था. और पढ़ाई-लिखाई, ऑफिस के सारे कामकाज सब ऑनलाइन पर टिक गए. उस वक्त जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बंद का मुद्​दा उठा था. इसको लेकर विपक्षी दल लगातार सरकार की आलोचना करते हुए इंटरनेट बहाली की मांग उठाते रहे हैं.

अब जबकि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है. सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर सरकार ने अस्थायी रूप से इंटरनेट सेवा बंद कर रखी है. हरियाणा के कई जिलों में भी इंटरनेट बंद है. इन क्षेत्रों में इंटरनेट बंदी की आलोचना के बीच घाटी का मुद्​दा भी उठता रहा है.


किसानों के चक्का जाम से एक दिन पहले दिल्ली पुलिस अलर्ट, दिल्ली सीमाओं की सुरक्षा सख्त


 

हाल ही में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला ने राज्य में 4-जी इंटरनेट सेवा को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि जल्द ही भारत में 5-जी इंंटरनेट सेवा शुरू होने की की बात हो रही है. जबकि जम्मू-कश्मीर के बाशिंदों को 4-जी भी नहीं दिया जा रहा. उन्होंने कहा था कि कुछ दिन प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर में रहें तो शायद जान सकें कि 2-जी सेवा से काम में किस तरह की मुश्किलें आ रही हैं.

पूर्व नौकरशाह और राजनेता शाह फैसल ने घाटी में इंटरनेट सेवा बहाली को एक बड़ी सकारात्मक पहल बताया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here