बरेली में घरवालों को क़ुबूल नहीं अलग बिरादरी में निकाह, दूल्हा-दुल्हन को सता रहा जान का ख़ौफ़

0
50

द लीडर हिंदी: यूपी के ज़िला बरेली की बबली राज़ी थीं. अपने ही गांव गिरधरपुर में रहने वाले वसीम से निकाह कर लिया. मरेठ की बड़ी मस्जिद में गुज़रे माह की 27 मई को दोनों ने एकदूसरे को क़ुबूल कहा. क़ाज़ी मुहम्मद इस्माईल ने उन्हें निकाह की सनद जारी कर दी. गांव लौटे तो उनका निकाह बबली के चाचा और उनके बेटे को क़ुबूल नहीं है. शायद इसलिए कि बबली अलवी हैं और उनके शौहर वसीम क़ुरैशी हैं. बबली के पापा का इंतक़ाल हो चुका है. मां हयात हैं.

बबली के अधिवक्ता सचिन राठौड़ का कहना है कि मां की इस रिश्ते पर मंज़ूरी है. गांव में धमकियां मिलने के बाद बबली और वसीम एसएसपी दफ़्तर आए थे. उन्होंने बताया कि मुहब्बत करते थे. साथ रहना चाहते हैं, इसलिए शादी कर ली लेकिन यह चाचा और चचेरे भाई को क़बूल नहीं है. उन्होंने कह दिया है कि तेरे शौहर को मार देंगे. एसएसपी से जान की अमान की मांग की है. दोनों अपने निकाह का विवाह अधिकारी के यहां पंजीकरण भी करा चुके हैं. एसएसपी दफ़्तर से भोजीपुरा थाने को लिखा गया है. दूल्हा-दुल्हन की मांग पर कार्रवाई के लिए कहा है.https://theleaderhindi.com/know-these-special-things-about-pm-modis-72-minute-speech/