नबी पर की गई अपमानजनक टिप्पणी पर वैश्विक आक्रोश जारी : जानिए सऊदी अरब, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बहरीन ने क्या कहा ?

0
138

द लीडर। काशी से शुरू हुआ ज्ञानवापी विवाद पूरे देश दुनिया में फैल चुका है। सरकार द्वारा किए गए सर्वे में तो ये बात साफ हो गई कि, वहां पहले मंदिर हुआ करता था। लेकिन अब ज्ञानवापी को लेकर कई नेता अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं रख रहे हैं। ऐसे में कई नेता विवादित बयान भी दे रहे हैं। जी हां भाजपा नेता नूपुर शर्मा ने मोहम्मद पैगंबर पर विवादित टिप्पणी की थी। जिसके बाद देश में उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन देखने को मिला।

नूपुर शर्मा और नवीन कुमार निष्कासित

यहां तक ​​​​कि भाजपा ने अपनी प्रवक्ता नूपुर शर्मा को 6 साल के लिए निलंबित कर दिया और एक अन्य नेता नवीन कुमार को उनकी सांप्रदायिक टिप्पणियों पर निष्कासित कर दिया गया है। वहीं इन विवाद पर वैश्विक आक्रोश कम नहीं हुआ है। कतर और कुवैत के बाद सऊदी अरब, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बहरीन ने नेताओं की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया दी है।


यह भी पढ़ें: लाल बिहारी यादव ने की शिवलिंग पर विवादित टिप्पणी : भाजपा ने किया पलटवार, कहा- सपा नेता का मानसिक संतुलन ठीक नहीं

 

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने की निंदा

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि, विदेश मंत्रालय भारतीय भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता द्वारा दिए गए बयानों की निंदा करता है, जिन्होंने पैगंबर मुहम्मद का अपमान किया। वहीं इसके साथ ही मंत्रालय ने सरकार द्वारा की गई कार्रवाई का स्वागत किया है।

भाजपा सरकार के फैसले का स्वागत

वहीं बहरीन के विदेश मंत्रालय ने धार्मिक भावनाओं को भड़काने और धार्मिक घृणा को भड़काने के प्रयासों की निंदा करने की आवश्यकता पर बल दिया है। बहरीन ने “अपमानजनक” टिप्पणियों पर अपने प्रवक्ता को निलंबित करने के सरकार के फैसले का भी स्वागत किया है।

नबी पर विवादित टिप्पणी की निंदा

इसके साथ ही अफगानिस्तान में तालिबान शासन ने भाजपा सरकार के प्रवक्ता की टिप्पणियों की निंदा की है और भारत सरकार से आग्रह किया है कि, ऐसे कट्टरपंथियों को इस्लाम के पवित्र धर्म का अपमान करने और मुसलमानों की भावनाओं को भड़काने की अनुमति न दें।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भाजपा नेताओं की टिप्पणियों का विरोध करने के लिए भारतीय प्रभारी डी अफेयर्स को तलब किया है, और उनके खिलाफ की गई अनुशासनात्मक कार्रवाई को “बेकार” कहा है।

गल्फ कोऑपरेशन काउंसिल (जीसीसी) के महासचिव डॉ. नायेफ फलाह एम. अल हजरफ ने “बीजेपी के प्रवक्ता द्वारा पैगंबर के खिलाफ दिए गए बयानों की निंदा की है।

इन देशों ने भारत के राजदूतों को किया तलब

कतर और कुवैत ने दोहा और कुवैत शहर में भारत के राजदूतों को तलब किया और उन टिप्पणियों के लिए नई दिल्ली से “सार्वजनिक माफी” की मांग की, जिन्हें “इस्लामोफोबिक” माना जाता था, ईरान और कई अन्य अरब देशों के बारे में समझा जाता है कि, उन्होंने अनौपचारिक रूप से अपनी चिंताओं को व्यक्त किया है।

बता दें कि, विवाद बढ़ता देख भाजपा ने रविवार को प्रवक्ता नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया और पार्टी की दिल्ली इकाई ने अपने मीडिया सेल प्रमुख नवीन कुमार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया। उनके द्वारा पैगंबर मोहम्मद और इस्लाम पर आपत्तिजनक बयानबाजी की गई थी।


यह भी पढ़ें:  Mandir Masjid Controversy : हिंदू-मुस्लिम विवाद के बीच क्या RSS प्रमुख मोहन भागवत का ये बयान देश में कम करेगा तनाव ?