उत्तराखंड का प्रोटोकाल:पार्टी अध्यक्ष को गॉर्ड ऑफ ऑनर, सरकारी हेलीकाप्टर!

0
83

द लीडर बागेश्वर उत्तराखंड

क्या एक पार्टी अध्यक्ष को मुख्यमंत्री या मंत्री का प्रोटोकाल मिल सकता है। अब कही ये प्रोटोकाल हो न हो उत्तराखंड में तो चलता है। इस सत्कार को प्राप्त किया आज भाजपा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने। 2022 के चुनाव के लिए अपनी पार्टी को सन्नद्ध करने आज पार्टी ने उन्हें पहाड़ चढ़ाया।

वाकया कुमाऊं मंडल के बागेश्वर जिला मुख्यालय का है। उनका कार्यक्रम पूरी तरह सरकारी था। सूचना विभाग ने पूरी तैयारी की थी, निमंत्रण भी बांटे थे।
बागेश्वर में भाजपा के प्रदेश मदन कौशिक को गार्ड ऑफ ऑनर ही नहीं दिया गया उन्हें राजनीतिक कार्यक्रम के लिए बाकायदा सरकारी हेलीकॉप्टर से भेजा गया। प्रेस वार्ता के लिए जिला सूचना विभाग की ओर से पत्रकारों को निमंत्रण भेजे गए। सवाल उठे तो सूचना विभाग ने तो चुप्पी साध ली गार्ड ऑफ ऑनर देने पर पुलिस अधिकारी जरूर गलती मान रहे हैं।
जब बवाल उठा तो पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव ने बताया कि गार्ड आफ आर्नर राज्यपाल, मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री आदि को दिया जाता है। प्रोटोकाल के अनुसार यह प्रक्रिया होती है। उधर, जिला प्रशासन के कमिश्नर के अलावा प्रभारी मंत्री को भी गार्ड आफ आर्नर दिया जाता है। लेकिन मदन कौशिक तो प्रभारी मंत्री भी नहीं हैं।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को गार्ड आफ आर्नर देने में एसपी ने कहा कि पुलिस लाइन में गलती हुई है। पुराने आदेश के तहत उन्हें कैबिनेट मंत्री समझ लिया गया। नए आदेश में उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था की बात लिखी थी। उसके बावजूद गार्ड ऑफ ऑनर दिए जाने की जांच होगी और लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
जब से नए सीएम तीरथ सिंह रावत ने पद भार संभाला है तब से कोई न कोई नया व‍िवाद हो ही रहा है। आज से वह आइसोलेशन में हैं यानी खुद कहीं नही जा रहे फिर भी एक विवाद हो ही गया।
कौशिक का हेलीकाप्टर पूर्वाह्न करीब 11 बजे बागेश्वर के डिग्री कॉलेज मैदान में उतरा। यहां उन्हें पुलिस की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। बाइक रैली भी निकाली गई। प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक में कार्यकर्ताओं को मिशन 2022 के लिए तैयार रहने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश और केंद्र सरकार पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रही है। पार्टी कार्यकर्ताओं को भाजपा की रीति-नीति को गांव-गांव, घर-घर तक पहुंचाना है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के सरकारी हेलीकॉप्टर से आने पर विपक्षियों ने जमकर सरकार पर आरोप लगाए। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी ने इसे सत्ता का दुरुपयोग बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को इस प्रकरण पर माफी मांगनी होगी। जिला प्रशासन के अनुसार हेलीकाप्टर का कार्यक्रम आया था, लेकिन सरकारी हेलीकाप्टर था या नहीं। इसकी जानकारी उसके पास नहीं है।

कांग्रेस ने की निंदा

उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने राज्य की भाजपा सरकार पर पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए सरकारी संसाधनों के दुरुपयोग करने की निंदा की। उन्होंने कहा भाजपा तमाम मान मर्यादाओं को उतारने पर आमादा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here