सीएम योगी ने योग दिवस के आयोजन की समीक्षा की और कहा योग शरीर और मन दोनों को स्वस्थ रखता है – योगी

0
126

लखनऊ- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक बैठक में विभिन्न मंत्रीगण एवं शासन स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नवम् अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन के दृष्टिगत की जा रही तैयारियों की समीक्षा की तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग, भारतीय मनीषा द्वारा विश्व मानवता को प्रदान किया गया वह अमूल्य उपहार है, जो शरीर और मन दोनों को स्वस्थ रखता है। हमारे ऋषि मुनियों के इस प्रसाद से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरी दुनिया को परिचित कराया है। इस वर्ष 09वें अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम ‘हर घर-आंगन योग’ रखी गई है, जिससे योग के माध्यम से प्रत्येक परिवार को कल्याण एवं स्वास्थ्य प्राप्त हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अधिक से अधिक लोगों को योग का लाभ पहुँचाने के उद्देश्य से 15 जून से 21 जून, 2023 तक ‘योग सप्ताह’ के रूप में मनाया जाए। योग सप्ताह की अवधि में जनपद मुख्यालयों पर सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। सार्वजनिक पार्कों में प्रतिदिन प्रातःकाल 06 बजे से 08 बजे तक सामूहिक योगाभ्यास हो। विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, स्कूलों एवं कॉलेजों में योग से सम्बन्धित सेमिनार/कार्यशाला आयोजित किये जाएं। इस कार्यशाला में आधुनिक जीवन शैली, मानसिक विकारों के प्रबन्धन में योग की भूमिका तथा भाषण, रंगोली, पोस्टर, निबन्ध लेखन, स्लोगन एवं आशु भाषण से सम्बन्धित प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग सप्ताह के विविध कार्यक्रमों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाए। आम जन की सुविधा और जागरूकता के लिए कॉमन योग प्रोटोकॉल के वीडियो लिंक भी प्रसारित किए जाएं। स्वयंसेवी संस्थाओं, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेण्टरों, धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं, योग संस्थानों, एन0सी0सी0 कैडेट, स्काउट एण्ड गाइड और एन0एस0एस0 स्वयंसेवकों को योग दिवस से जोड़ा जाए। अधिकाधिक लोगों को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के महत्वपूर्ण आयोजन से जोड़ने के लिए जन जागरूकता बढ़ाने के प्रयास किए जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के दिन सभी मंत्रीगण अपने प्रभार वाले जनपद में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करें। स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कार्यक्रमों से जोड़ा जाए। योग प्रशिक्षक भी दिए जाएं। विश्वविद्यालयों के विशाल परिसर में बड़े योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किए जाने चाहिए। 21 जून के मुख्य समारोह को सभी 58 हजार ग्राम पंचायतों और 762 नगरीय निकायों में आयोजित किया जाए। अमृत सरोवरों, ऐतिहासिक महत्व के स्थलों एवं सांस्कृतिक स्थलों पर योगाभ्यास का आयोजन कराया जाए। सभी 14 हजार वॉर्डों में योगाभ्यास के लिए पार्षदों के माध्यम से स्थान चिन्हित किये जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 20 जून को नगर विकास, ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज विभाग द्वारा स्थानीय शिक्षण संस्थानों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए स्वच्छता का विशेष अभियान चलाया जाए। इस अवसर पर बच्चों को फल-मिष्ठान का वितरण किया जाए। नगर विकास विभाग द्वारा योगाभ्यास के लिए प्रस्तावित स्थलों, पार्कों की साफ-सफाई करा ली जाए। सभी पुलिस लाइन्स एवं पी0ए0सी0 बटालियन को योग दिवस के मुख्य आयोजन से अवश्य जोड़ा जाए। कार्यक्रम स्थलों की सुरक्षा के दृष्टिगत पुलिस बल की सतत् पेट्रोलिंग भी की जाए।

ये भी पढ़े –क्या बृजभूषण सिंह के खिलाफ रची गई साजिश? बालिग निकली FIR कराने वाली पहलवान