तीरथ ने हरिद्वार जाकर संतो को शांत किया

द लीडर हरिद्वार
एक दिन पहले ही संतो की मांगों के अनुरूप त्रिवेंद्र सरकार का फैसला बदलने के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने रविवार को हरिद्वार जाकर दो कार्यक्रमों के शिरकत के बहाने संतो का रोष शांत किया। उन्होंने ने पूरे देश वासियों को कुम्भ नहाने का न्योता देते हुए आश्वस्त किया कि शीघ्र व्यवस्थाएं और चौकस की जाएंगी।

समदृष्टि, क्षमता विकास एवं अनुसंधान मंडल (सक्षम) की ओर से राजकीय ऋषिकुल आयुर्वेदिक महाविद्यालय में आयोजित नेत्र कुंभ का उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ने मोदी है तो मुमकिन है के नारे का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें किसी को कुंभ में स्नान से वंचित नहीं रखना है। कुंभ में बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी। विशेष ट्रेनों के लिए भी उनका प्रयास रहेगा।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि कुंभ को लेकर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ऐतिहासिक निर्णय लिया है और सरकार को आगे भी आस्था के इस हरिद्वार कुंभ को प्रयागराज से बेहतर कराने के लिए कार्य करना चाहिए।

मुख्यमंत्री इसके बाद कनखल के हरिहर आश्रम में पहुंचे। वहां उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि जी महाराज से मुलाकात की। इसके बाद मुख्यमंत्री निरंजनी अखाड़ा पहुंचे। जहां उनका आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेन्द्र गिरि, निरंजनी अखाड़ा के सचिव रविन्द्र पुरी महाराज, बालकानंद गिरि आदि ने स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *