Champawat Bypoll Results : रिकॉर्ड तोड़ मतों से चंपावत उपचुनाव जीते सीएम धामी, पीएम मोदी ने दी बधाई

0
134

द लीडर। उत्तराखंड में चंपावत विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बड़ी जीत हासिल की है. उन्होंने कांग्रेस की प्रत्याशी निर्मला गहतोड़ी को पछाड़ते हुए बड़ी जीत हासिल की है.

पीएम मोदी ने दी बधाई

सीएम धामी की इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सीएम धामी को चंपावत से रिकॉर्ड जीत हासिल करने पर बधाई दी है. पीएम मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया और लिखा कि, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को चंपावत से जीत के लिए बधाई.


यह भी पढ़ें: Coronavirus : कोरोना पॉजिटिव हुईं सोनिया गांधी, पीएम मोदी ने की जल्द ठीक होने की दुआ

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि, मुझे विश्वास है कि वो उत्तराखंड की प्रगति के लिए और भी अधिक मेहनत करेंगे. मैं चंपावत के लोगों को भाजपा में विश्वास रखने के लिए धन्यवाद देता हूं और हमारे कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत की सराहना करता हूं.

सीएम धामी ने 54121 वोटों से जीत दर्ज की

सीएम पुष्कर ने वोटों की गिनती के पहले ही राउंड में बढ़त बना ली थी 13 चरणों में हुई मतगणना के बाद धामी ने कांग्रेस प्रत्याशी निर्मला गहतोड़ी को भारी मतों से हरा दिया. बीजेपी उम्मीदवार सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 54 हजार 121 वोटों से जीत दर्ज की.

उपचुनाव के लिए 13वें राउंड तक हुई काउंटिंग में कांग्रेस प्रत्याशी निर्मला गहतोडी को-3147, बीजेपी प्रत्याशी पुष्कर धामी को 57268, सपा प्रत्याशी मनोज कुमार को 40 , निर्दलीय प्रत्याशी हिमांशु गरकोटी को 399 और नोटा के हिस्से में 372 मत आए.

अब तक कोई मुख्यमंत्री उपचुनाव में इतने मतों से नहीं जीता

उत्तराखंड विधानसभा में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पांचवें ऐसे मुख्यमंत्री है, जो विधानसभा के उपचुनाव के लिए मैदान में उतरे. अब तक कोई मुख्यमंत्री उपचुनाव में इतने मतों से नहीं जीता है. इसी के साथ प्रदेश में भाजपा ने एक नया इतिहास जोड़ दिया है.

सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड

पुष्कर सिंह धामी ने इस जीत के साथ इतिहास रच दिया. धामी को उत्तराखंड में विधानसभा चुनावों व उपचुनावों में सबसे बड़े अंतर से जीत हासिल हुई है. इससे पहले यह रिकॉर्ड पूर्व सीएम विजय बहुगुणा के नाम था, जिन्होंने 2012 के सितारंगज में हुए उपचुनाव में प्रकाश पंत को 39,954 वोटों से हराया था.

खटीमा में 5800 वोटों से हार गए थे धामी

2017 से 2022 के बीच उत्तराखंड में भाजपा को तीन मुख्यमंत्री बदलने लड़े. लेकिन एक बार जब युवा धामी को कमान मिली तो उन्होंने जिस तरह कुछ महीनों में ट्रेलर दिखाया, जनता ने 5 साल के लिए दोबारा उन्हें मौका दिया.

हालांकि, भाजपा के रंग में भंग उस समय पड़ गया जब धामी खुद खटीमा से कांग्रेस प्रत्याशी भुवन चंद्र कापड़ी से मुकाबले में 5800 वोटों से हार गए. खटीमा से हार के बावजूद भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने धामी को राज्य की कमान सौंपी.

सीएम योगी ने भी किया था प्रचार

चंपावत सीट से जीते भाजपा के कैलाश गहतोड़ी ने मुख्यमंत्री के लिए सीट खाली कर दी. कांग्रेस ने सीएम के खिलाफ निर्मला गहतोड़ी को मैदान में उतारा. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की बड़ी जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रचार में कैबिनेट मंत्रियों ने पूरी ताकत झोंक दी थी.

इसके अलावा चार विधायक 15 दिनों से दुर्गम इलाकों में डटे रहे. खुद धामी ने यहां कई बार प्रचार किया तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उनके लिए रैली की.


यह भी पढ़ें:  जालौन में प्रधान की दबंगई : मनरेगा मजदूरों का मारा जा रहा हक, JCB से कराई जा रही तालाब की खुदाई