बिहार का सबसे बड़ा निर्माणाधीन पुल ध्वस्त, बन रहा था भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत

0
28

द लीडर हिंदी : बिहार का सबसे बड़ा निर्माणाधीन पुल ध्वस्त हो गया. सुपौल में कोसी नदी पर बन रहे देश के सबसे बड़े सड़क पुल का एक हिस्सा गिर गया है. इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई वहीं 9 लोगों के घायल होने की खबर है. मौके पर पहुंची राहत-बचाव कार्य की टीम और पुलिस की टीम ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया. सुपौल में बन रहे बकौर निर्माणाधीन पुल का बड़ा हिस्सा गिर गया जिसके बाद वहां अफरा-तफरी का माहौल हो गया. जानकारी के मुताबिक, पूल के पिलर संख्या 50,51,52 का गार्टर गिर गया. ताजा जानकारी के मुताबीक सुपौल के डीएम कौशल कुमार ने 1 व्यक्ति की मौत और 9 लोगों के घायल होने की पुष्टि की है. इस हादसे में 3 की हालत गंभीर बताई जा रही है जिनका इलाज प्राइवेट क्लिनिक में चल रहा है. इस बीच घंटे के बाद भी रेस्क्यू शुरू नहीं हो पाई है. हालांकि डीएम और एसपी घटनास्थल पर कैंप कर रहे हैं.

सुपौल के डीएम कौशल कुमार ने बताया कि हादसे की वजह से एक व्यक्ति की मौत हो गई और 9 लोग घायल हो गए. सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है. इस पुल को 1200 करोड़ की लागत से तैयार किया जा रहा था. शुक्रवार की सुबह करीब 7 बजे हुए इस हादसे में कई लोग घायल हो गए. गार्डर गिरा तो वहां मौजूद पुल बनाने वाली कंपनी के लोग मौके से फरार हो गए. इस पुल को बनाने का कांट्रैक्ट ट्रांस रेल कंपनी के पास है.

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत तैयार किए जा रहे इस पुल की लंबाई 10.5 किलोमीटर है. वहीं, अप्रोच रोड को मिला दें तो इसकी लंबाई 13 किलोमीटर से ज्यादा हो जाती है. सुपौल के पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, हादसे में 6 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया है.

वही जानकारी के मुताबीक स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि मलबे में 20 से अधिक लोग दबे हो सकते हैं. घटना के बाद से स्थानीय लोग काफी आक्रोशित हैं. फिलहाल बकौर से भेज के बीच पाने वाले पुल का गार्टर गिरने के बाद अभी तक राहत का काम शुरू नहीं किया गया है.

कोसी नदी पर बन रहे पुल का हिस्सा नदी क्षेत्र में गिर गया. हालांकि जहां पर ये गिरा वहां नीचे पानी नहीं था. इस पुल को देश का सबसे बड़ा पुल बताया जा रहा है. इस पुल को तैयार करने की डेडलाइन 2023 थी, हालांकि कोरोना और बाढ़ की वजह से निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका था. इसका निर्माण दो कंपनियां (गैमन इंडिया और ट्रांस रेल लाइटिंग प्राइवेट लिमिटेड) मिलकर कर रही हैं. इससे पहले भागलपुर में गंगा नदी पर बना पुल गिर गया था.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/maulana-tauqeer-raza-returned-to-bareilly-said-two-leaders-created-riot/