भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने आज़म ख़ान की जान को बताया खतरा-पढ़ें

0
16

द लीडर हिंदी : अतीक अहम फिर मुख्तार अंसारी अब क्या आज़म खान की बारी है.ये सवाल बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी की मौत के बाद सभी के दिमाग में दौड़ रहा है. बता दें आज शनिवार को मुख्तार अंसारी को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया है. लेकिन मुख्तार की मौत ने सियासत में भारी भूचाल मचा दिया है.बतादें मुख्तार अंसारी की मौत के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने जेल में बंद समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री आजम खान को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. चंद्रशेखर आजाद ने जेल में आजम खान की सुरक्षा बढ़ाने की मांग सरकार से की है. भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने आजम खान की जान को खतरा बताया है. उन्होंने अलग-अलग जेल में बंद आजम खान के परिवार के लोगों को एक जेल में शिफ्ट करने की मांग की है.

चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की मौत के बाद मैं आजम खान को लेकर भी चिंतित हूं. उनके स्वास्थ्य का ख्याल सही से नहीं रखा जा रहा है. आजम खान के साथ ज्यादतियां हो रही हैं. उनके दिल में दर्द का समंदर है, सरकार के इशारे पर कुछ भी हो सकता है. मुख्तार अंसारी ने भी खूब गुहार लगाई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.

तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल शिफ्ट मुख्तार अंसारी
बता दें कि कल यानी गुरुवार (28 मार्च) को पूर्वांचल के डॉन और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद उनको फौरन बांदा जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच मेडिकल कॉलेज शिफ्ट किया गया. जहां उनका इलाज चल रहा था, लेकिन उनको नहीं बचाया जा सका और दिल का दौरा पड़ने की वजह से उनकी मौत हो गई. इससे कुछ दिन पहले भी मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उनको जेल से बांदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था. उनकी तबीयत में सुधार देखते हुए उनको जेल में वापस भेज दिया गया था, लेकिन उनकी तबीयत फिर बिगड़ी और इस बार वह इस दुनिया को छोड़कर चले गए.

मुख्तार की मौत पर चंद्रशेखर आजाद की प्रतिक्रिया
बतादें देश में मुख्तार अंसारी की मौत के बाद राजनीति गरमा गई है. राजनीतिक दल के नेता एक के बाद अपनी प्रतिक्रिया दे रहा हैं और राजनेताओं का बयान सामने आ रहा है. मुख्तार की मौत पर भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने कहा, ”पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी का असामायिक निधन बेहद दुखद, मैं विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति हैं, प्रकृति उन्हें यह असीम दुख सहने की शक्ति प्रदान करें. पूर्व में ही उन्होंने अपनी हत्या की आशंका व्यक्त की थी, मैं माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद हाईकोर्ट, उत्तर प्रदेश से उनकी मृत्यु की सीबीआई जांच की मांग करता हूं.”

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/huge-crowd-at-mukhtars-funeral-heated-argument-between-afzal-ansari-and-dm-aryaka-akhouri/