खिलाड़ियों पर मेहरबान हुआ BCCI, अब होगी नोटों की बारिश- पढ़ें ये खबर

0
42

द लीडर हिंदी : भारतीय टेस्ट खिलाड़ियों के लिए बेहद बड़ी खबर है. बीसीसीआई खिलाडि़यों पर मेहरबान हो गया है.आईपीएल 2024 (IPL 2024) के बाद टेस्ट खिलाड़ियों की सैलरी बढ़ने वाली है. इसके अलावा, बीसीसीआई (BCCI) खिलाड़ियों को एक सीजन में हर टेस्ट सीरीज में भाग लेने पर बोनस देने पर भी विचार कर रहा है. टेस्ट क्रिकेट को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बीसीसीआई खिलाड़ियों की सैलरी बढ़ाने और बोनस देने की सोच रहा है.

आईपीएल 2024 के बाद इस पर फैसला लिया जा सकता है. बता दें कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि हाल ही में टी20 क्रिकेट को देखते हुए कई खिलाड़ियों ने टेस्ट क्रिकेट खेलने से मना कर दिया था. वहीं कुछ ने रणजी के भी कई सारे मुकाबले मिस किए थे.

एक रिपोर्ट के मुताबीक आईपीएल के लिए खुद को फिट रखने के लिए खिलाड़ियों के रणजी ट्रॉफी छोड़ने के बाद बीसीसीआई ये बदलाव कर सकता है. इशान किशन ने बीसीसीआई के आदेश के बावजूद झारखंड के लिए रेड बॉल फॉर्मेट छोड़ने का फैसला किया था. यही हाल श्रेयस अय्यर का भी था, जो रणजी सीजन के चल रहे क्वार्टर फाइनल मैच से बाहर हो गए थे.

बता दें कि दिसंबर में दक्षिण अफ्रीका दौरे से हटने के बाद से इशान किशन ब्रेक पर हैं. वह आईपीएल 2024 में मैदान पर वापसी करेंगे. अय्यर भी आईपीएल 2024 में वापसी करेंगे, जहां वह कोलकाता नाइट राइडर्स का नेतृत्व करेंगे. उम्मीद है कि बीसीसीआई आईपीएल के बाद फीस बढ़ोतरी को लेकर आधिकारिक घोषणा कर सकती है. भारतीय खिलाड़ियों को हर टेस्ट मैच के लिए 15 लाख रुपए की मैच फीस मिलती है. 2016 में उनकी सैलरी दोगुनी कर दी गई थी. ऐसे में अब बोर्ड टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ियों की ये रकम और ज्यादा कर सकता है.

बता दें खिलाड़ियों की मैच फीस हर वनडे 6 लाख रुपए और टी20 के लिए 3 लाख मिलते हैं. लेकिन अब मैच फीस के अलावा, खिलाड़ियों को बीसीसीआई कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में ग्रेड के अनुसार सालाना वेतन भी मिलता है.

पढ़ें-https://theleaderhindi.com/indias-new-flight-into-space-pm-announces-names-of-four-astronauts/

बता दें कि जहां बीसीसीआई टेस्ट खिलाड़ियों की सैलरी बढ़ाने की प्लानिंग कर रहा है, वहीं कप्तान रोहित शर्मा ने रेड बॉल फॉर्मेट को छोड़ने वाले खिलाड़ियों को खास मैसेज दिया है. इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के बाद रोहित ने कहा कि, “जिन खिलाड़ियों में भूख है, जो खिलाड़ी यहां रुकना और प्रदर्शन करना चाहते हैं और कठिन परिस्थितियों में खेलना चाहते हैं, हम उन्हें प्राथमिकता देंगे. रोहित ने साफ कर दिया है कि अगर आपके अंदर क्रिकेट को लेकर भूख है तो ही आप टेस्ट क्रिकेट खेलो वरना कोई फायदा नहीं.