दरगाह आला हज़रत पर हाज़िरी के बाद अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बोले-लव जिहाद की बात ग़लत

0
123

The Leader. राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इक़बाल सिंह यूपी के ज़िला बरेली आए थे. पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के नौ साल पूरे होने पर. उन्होंने दरगाह आला हज़रत पर हाज़री दी. अल्पसंख्यकों के लिए चलाई जा रही योजनाओं को लेकर कलेक्ट्रेट में सभी मज़हब के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की. सुझाव लिए और अफसरों से भी बात की. मोदी सरकार के कामकाज गिनाए. अल्पसंख्यक समाज ख़ासतौर से मुसलमानों के मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी.


रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा के आयोजन में पीएम मोदी को न्योता, तारीख अभी नहीं हुई तय


दिल्ली में साक्षी के मर्डर को लेकर लव जिहाद का सवाल हुआ तो साफ कर दिया कि जहां लव होगा, वहां जिहाद नहीं हो सकता. दोनों अलग दिशाएं हैं. यह भी कहा कि मुसलमानों के लिए जितना कुछ पीएम मोदी ने किया, उनसे पहले किसी प्रधानमंत्री ने ऐसा नहीं किया. विकास के साथ सम्मान भी मिल रहा है. इसके विपरीत कांग्रेस ने डराने और भ्रम फैलाने का काम किया था. बढ़ती आबादी इस बात सुबूत है कि अल्पसंख्यकों के लिए सबसे सेफ जगह भारत है.


UP Nikay Chunav 2023: बरेली में पहली बार मुस्लिम बस्ती धौरा टांडा में खिला कमल


मोदी सरकार के 9 साल पूरे होने पर एक होटल में प्रेसवार्ता के पंजाब के पूर्व आईपीएस और राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह ने कहा कि पंजाब की स्थिति बहुत दयनीय है. युवा 10 प्लस 2 पढ़ने के बाद ही विदेश रवाना होने की धुन में लग जाते हैं. केंद्र सरकार वहां की स्थिति पर नजर रखे हुए है. इकबाल सिंह ने यह भी कहा कि पंजाब के मुकाबले यूपी की क़ानून व्यवस्था बहुत ज्यादा अच्छी है. पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं बरेली के सांसद संतोष गंगवार ने कहा कि भाजपा सरकार में परिवर्तन साफ नज़र आ रहा है. सबका साथ सबका विकास का सरकार ने न सिर्फ नारा दिया बल्कि उसे उपने कामों के बूते साकार भी किया है. महापौर डॉ. उमेश गौतम ने कहा कि बरेली शहर पुलों की नगरी बन गया है. अब यहां ग़रीब एसी बस में बैठकर यात्रा कर सकता है.