पाकिस्तान में अभिनेता दिलीप कुमार और राजकपूर के घर बने राष्ट्रीय विरासत

पाकिस्तान की खैबर पख्तूनख्वा सरकार ने शनिवार को बॉलीवुड अभिनेता दिलीप कुमार और राजकपूर के पैतृक घरों को खरीदने के लिए 2.35 करोड़ रुपये जारी करने को मंजूरी दे दी और उन घरों को राष्ट्रीय विरासत घोषित कर दिया।

खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री महमूद खान ने औपचारिक रूप से इससे संबंधित प्रस्ताव को मंजूरी दी।

इससे पहले पेशावर के डिप्टी कमिश्नर मुहम्मद अली असगर ने संचार और निर्माण विभाग की एक रिपोर्ट के बाद, दिलीप कुमार के 101 वर्ग मीटर चार मारला घर की कीमत 80.56 लाख रुपये और राज कपूर के 151.75 वर्ग मीटर में मारला घर की कीमत 1.50 करोड़ रुपये में तय की थी।

भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में उपयोग की जाने वाली क्षेत्र की पारंपरिक इकाई मारला को 272.25 वर्ग फुट या 25.2929 वर्ग मीटर के बराबर माना जाता है। खरीद के बाद दोनों घरों को खैबर पख्तूनवा पुरातत्व विभाग द्वारा एक संग्रहालय में बदल दिया जाएगा।

राज कपूर का पैतृक घर कपूर हवेली के नाम से जाना जाता है, जो कि किस्सा ख्वानी बाजार में स्थित है। यह घर 1918 और 1922 के बीच राजकपूर के दादा दीवान बशेश्वरनाथ कपूर ने बनवाया था। राज कपूर और उनके चाचा त्रिलोक कपूर इसी इमारत में पैदा हुए थे।

अभिनेता दिलीप कुमार का 100 साल पुराना पुश्तैनी घर भी उसी इलाके में स्थित है। यह घर जर्जर है और 2014 में तत्कालीन नवाज शरीफ सरकार द्वारा राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया गया था।

दोनों भवनों के मालिकों ने कॉमर्शियल प्लाजा के निर्माण के लिए इन घरों को ध्वस्त करने के लिए अतीत में कई प्रयास किए लेकिन उन्हें ऐसा करने से रोक दिया गया, क्योंकि पुरातत्व विभाग ने उनके ऐतिहासिक महत्व को ध्यान में रखते हुए उन्हें संरक्षित करना चाहता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *