बरेली में घर के बाहर खेल रहे तीन साल के बच्चे का अपहरण, भीड़ ने दबोचा एक बच्चा चोर

0
59

द लीडर हिंदी: यूपी के जिला बरेली में बच्चा चोरी और उसकी सौदेबाजी की सनसनीखेज वारदात सामने आई है.

किला थाना क्षेत्र के बाकरगंज में घर के बाहर खेल रहे मांझा करीगर के तीन साल के बेटे को शनिवार को अगवा कर लिया गया.

परिजनों का शोर शराबा सुनकर स्थानीय लोग अलर्ट हो गए और बच्चे की तलाश में जुट गए. इस दौरान रेलवे फाटक के पास बच्चा चोरी करके भाग रहे एक आरोपी को लोगों ने दबोच लिया.

उसकी जमकर पिटाई लगाई. जबकि दूसरा आरोपी फरार हो गया. फिर पुलिस को सूचना देकर बुलाया और उनके हवाले कर दिया.

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने श्मशान भूमि के पास रहने वाली एक महिला के कहने पर बच्चा चोरी करने की वारदात को कुबूल कर लिया.

साथ में बताया कि बच्चे का 20 हजार रुपये में सौदा तय किया था. बच्चा चोरी के लिए बतौर एडवांस एक-एक हजार रुपये भी दिए गए थे.

बहरहाल, दिनदहाड़े बच्चा चोरी की वारदात से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया. लोगों ने दहशत के चलते बच्चों के अकेले घर से बाहर निकलने पर रोक लगा दी है.

शनिवार सुबह करीब साढे 10 बजे थे. किला में हुसैनबाग निवासी मांझा कारीगर शखरुद्दीन का 3 साल का बेटा सुभान घर के दरवाजे पर खेल रहा था.

अचानक खेलते वक्त उनका बेटा लापता हो गया. परिवार के लोगों ने पुकार लगाते हुए सुभान की तलाश शुरू की तो आसपास के लोग भी उसे तलाशने लगे.

इस बीच एक महिला ने परिवार वालों को बताया कि उसने दो युवकों को सुभान को बाकरगंज रेलवे फाटक की ओर ले जाते हुए देखा था.

इस पर परिजनों ने रेलवे फाटक के पास बच्चा चोरी करके ले जा रहे एक आरोपी को दबोच लिया और जमकर पिटाई लगा दी. जबकि उसका दूसरा साथी भाग निकला.

बदमाशों की चंगुल से छुटने पर तीन साल का मासूम सुभान मां के आंचल से लिपट गया और रोने लगा. उधर, सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया और थाने ले गई.

थाने में पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसका नाम आजम अंसारी है. वह फर्नीचर का करीगर है. केरल में रहकर काम करता था. पैसों की किल्लत चल रही थी.

इस दौरान वह शमशान भूमि के पास की रहने वाली एक महिला के संपर्क में आया. जिसने उसे बच्चा चोरी करने का प्लान बताया और 20 हजार रुपये में बच्चे का सौदा तय हुआ था.

उसे बच्चा चोरी करके महिला के पास पहुंचाना था. एडवांस बतौर एक-एक हजार रुपए भी मिले थे. आरोपी ने बताया कि वह पिछले 10 दिनों से बच्चे को उठाने के लिए रेकी कर रहा था.

शनिवार सुबह अच्छा मौका मिला तो उसने बच्चे को उठा भी लिया. लेकिन इससे पहले की बच्चे को ले जाकर महिला को देता, उसे रेलवे फाटक पर परिजनों ने पकड़ लिया और जमकर पीटने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया.

मामले में किला थाने के इंस्पेक्टर हरेंद्र सिंह ने बताया कि शनिवार सुबह 10:30 बजे बच्चा चोरी होने की सूचना मिली थी. घटना को गंभीरता से लेते हुए फोर्स को अलर्ट कर दिया गया था.

रेलवे फाटक से आरोपी आजम को बच्चे के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है. बच्चा चोरी मामले में अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है.