ले मशालें चल पड़े हैं लोग मेरे गांव के… सुनिए, बल्ली सिंह चीमा की ये कविता उन्हीं की आवाज में

0
363
जनकवि बल्ली सिंह चीमा किसान आंदोलन में हैं. गाजीपुर बॉर्डर पर वे अपनी चर्चित कविता, ले मशालें चल पड़े हैं लोग मेरे गांव के…गुनगुना रहे हैं. द लीडर पर सुनिए बल्ली सिंह चीमा की ये कविता, उन्हीं की आवाज में.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here