तिहाड़ जेल में करवटें बदलते रहे केजरीवाल…ऐसी गुजरी पहली रात

0
26

द लीडर हिंदी : आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की 01 अप्रैल की रात तिहाड़ जेल में कटी. तिहाड़ की जेल नंबर-2 में अरविंद केजरीवाल को रखा गया है.केजरीवाल को तिहाड़ में विचाराधीन कैदी संख्या 670 दी गई है. सीएम केजरीवाल शाम के साढ़े चार बजे तिहाड़ जेल में पहुंचे थे.उन्हें सोमवार रात जेल में घर से आया हुआ खाना दिया गया. सूत्रों का कहना है 14 फीट लंबी और 8 फीट चौड़ी सेल में बंद केजरीवाल रात भर करवटें बदलते रहे.उनकी पहली रात बेचैनी के साथ कटी. क्योंकि उनके लिए यहां एक नई जगह है.

बतादें यहां एक छोटी सी बैरक है, जो लगभग 14 फूट लंबा और 8 फूट चौड़ा है. इसी में टॉयलेट भी बना हुआ है. ऐसे में वहां पर रहना, खाना और सोना इतना आसान नहीं होता है, इसलिए नींद भी सही तरीके से नहीं आ पाती है.ये एक हाई सिक्योरिटी सेल है. उनके सेल और आसपास करीब आधा दर्जन सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं. जिसकी मॉनिटरिंग जेल महानिदेशक कर रहे हैं

आपको बतादेंसफेद शर्ट पहने सीएम केजरीवाल सोमवार शाम करीब 4.45 बजे तिहाड़ जेल परिसर में दाखिल हुए और रिकॉर्ड के लिए उनकी तस्वीर खींची गई. इसके बाद जेल सुरक्षाकर्मियों ने उनकी और उनके सारे सामान की भी जांच की, जिसके बाद उन्हें तिहाड़ के जेल नंबर 2 में ले जाया गया.

जेल सूत्रों के मुताबिक, जेल नंबर 2 में सीएम केजरीवाल के बैरेक में सीमेंट का बनाया हुआ एक चबूतरा है, जिस पर बिछाने के लिए एक चादर, ओढ़ने के लिए कंबल और एक तकिया दिया जाता है. इसके अलावा 2 बाल्टी दी जाती है, एक बाल्टी में पीने का पानी रखा जाता है, जबकि दूसरी बाल्टी नहाने या कपड़ा धोने का पानी रखने के काम आती है. इसके अलावा एक जग भी दिया जाता है.

तिहाड़ की जेल नंबर 2 सजायाफ्ता कैदियों के लिए है. इस जेल में सजा पाए हुए कैदी रहते हैं. सजायाफ्ता कैदियों को कहीं लाने-ले जाने का मुद्दा नहीं रहता. वह अपने बैरेक में ही रहते हैं, इसलिए केजरीवाल की सुरक्षा के लिहाज से इस जेल को मुफीद माना गया.

जेल नंबर दो में एक जनरल एरिया है, इसी में एक बैरेक है उसी में केजरीवाल को रखा गया है. बैरेक के बाहर 4 सुरक्षाकर्मी हर वक्त तैनात रहेंगे और बैरेक को 24 घंटे सीसीटीवी की निगरानी में रखा जाएगा.

जानिए हर दिन कितने लोगों से मिल सकेंगे केजरीवाल
आपको बतादें तिहाड़ जेल में उन्हें प्रतिदिन 6 आगंतुकों से मिलने की इजाजत होगी. इसके लिए उन्होंने पत्नी और बच्चों के अलावा 3 अन्य लोगों के नाम लिखकर दिए हैं. इसके अलावा कोर्ट ने उन्हें मांगी गई तीन पुस्तकें अपने साथ जेल ले जाने की अनुमति दी. इसके अलावा उनकी डायबटीज़ की बीमारी को देखते हुए घर का खाना खाने की अनुमति दी गई है. वह जेल में अपना कंबल, गद्दा और तकिया ले जा सकेंगे. वह अपना चस्मा और धार्मिक लॉकेट भी अपने साथ रख सकेंगे.

तिहाड़ जेल के अधीक्षक को निर्देश दिया गया है कि सीएम केजरीवाल के शुगर लेवल और ब्लड प्रेशर की नियमित जांच की जाए. वह अपने साथ शुगर जांच के लिए ग्लूकोमीटर रख सकेंगे. कोर्ट ने निर्देश दिया है कि अगर सीएम केजरीवाल का शुगर लेवल गिरे तो उन्हें तुरंत टॉफ़ी, ग्लुकोज़ और केले उपलब्ध करवाए जाए. इसके अलावा उन्हें पेन और नोट पैड भी मुहैया करवाने का निर्देश दिया गया है.वहीं तिहाड़ जेल से सरकार चलाने के मसले पर तिहाड़ सूत्रों का कहना है कि सीएम केजरीवाल पर जेल मैन्युल ही लागू रहेंगे, उन्हें कोई अन्य सुविधा नहीं दी जाएगी.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/political-temperature-started-rising-in-rohilkhand-cm-yogi-on-bareilly-tour-today-will-address-enlightened-conference/