बरेली में नये साल पर सामूहिक दुष्कर्म का मामला सहेली के साथ एक नाबालिग़ आरोपी भी गिरफ़्तार

0
57

The leader Hindi: यूपी के ज़िला बरेली में नाइंसाफ़ी का ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें सहेली से लेकर पब्लिक और तंत्र तक सबने अपनी-अपनी भूमिका बाख़ूबी निभाई. किशोरी अपनी सहेली के साथ उसकी शादी के कार्ड बाटने के लिए गई थी. रास्ते में गांव के एक युवक ने खंडहरनुमा मकान में उससे दुष्कर्म किया. इल्ज़ाम है कि इस दौरान सचिन के दोस्तों ने वीडियो बना लिया. इस वीडियो की बदौलत किशोरी को ब्लेकमेल किया जाता रहा. एक जनवरी यानी नये साल के पहले दिन सचिन ने अपने दोस्त राजू से यह कहकर किशोरी को बुलाया कि उसका वीडियो डिलीट कर देंगे. वो पहुंची तो उसके साथ सचिन, राजू, बाबू, अमन और अमित ने सामूहिक दुष्कर्म किया. किशोरी ने हैवानियत की यह दास्तान जब अपनी मां को बताई और उन्होंने एफ़आइआइआर दर्ज कराने की कोशिश की तो गांव के असरदार लोग आगे आ गए.

पंचायत बुलाकर मामला रफ़ा-दफ़ा कर दिया गया. इससे किशोरी का भाई भड़क गया. उसने एक आरोपी राजू से मारपीट की और बाद में गुस्से से भरकर अपने ही घर में आग लगा ली. पंचायत में नाइंसाफ़ी के ख़िलाफ़ जमकर हंगामा भी किया. आग बुझाने के लिए फायरब्रिगेड को पहुंचना पड़ा. ख़ैर पुलिस ने दुष्कर्म करने वाले पांचों दोस्तों और किशोरी की सहेली पर मुक़दमा दर्ज कर लिया है. सीओ आंवला डॉ. दीपशिखा ने मीडिया से कहा है कि फरार आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है. पीड़िता की सहेली समेत चार आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है. इनमें एक नाबालिग़ भी शामिल है. एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि शेष आरोपी को भी जल्द गिरफ़्तार कर लेंगे लेकिन पुलिस की इस कार्रवाई से नाइंसाफ़ी की इस दास्तान में पंचायत कराने वाले गांव के असरदार लोग साफ बच गए हैं.

 

ये भी पढ़े:

राहुल गांधी ने सत्ता में आने पर अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया रद्द करने की बात कही