बर्ड फ्लू : कानपुर में चिकन और अंडे की बिक्री पर रोक

0
370

द लीडर : कोरोना महामारी के बीच बर्ड फ्लू (Bird flu) का खतरा मंडराया है. पिछले एक सप्ताह में छह राज्यों में इसकी दस्तक से कोहराम मचा है. इसमें हिमाचल प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली-एनसीआर और छत्तीसगढ़ शामिल हैं. कानपुर के चिड़ियाघर में 10 पक्षियों की मौत के साथ ही उत्तर प्रदेश (UP) में इसके असर की पुष्टि हो गई है. जो पॉल्ट्री उद्योग (मुर्गी पालन) के लिए ये बड़ा झटका माना जा रहा है. (Bird flu Reaches UP)

कानुपर में चिकन, अंडों की बिक्री पर रोक

कानुपर में फ्लू की पुष्टि के बाद चिकन और अंडे की बिक्री पर रोक की बात सामने आ रही हैं. स्थानीय दुकानदारों ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में दुकानें बंद कराए जाने की जानकारी साझा की है.

संक्रमण की पुष्टि के बाद कानपुर चिड़ियाघर को बंद कर दिया गया है. जांच में यहां मारे गए चार परिंदों में बर्ड फ्लू के लक्ष्ण मिले थे. कमिश्नर राजशेखर के आदेश पर चिड़ियाघर इलाके को रेड जोन घोषित किया गया है.

गाजीपुर में 10 पॉल्ट्री फॉर्म बंद

इससे पहले दिल्ली सरकार बर्ड फ्लू से निपटने की तैयारी में जुट गई है. लगातार पक्षियों की मौत के बाद गाजीपुर क्षेत्र के 10 पॉल्ट्री फॉर्म बंद कर दिए गए हैं. और पक्षियों के आयात पर रोक लगा दी गई है. जिलेवार निगराने की टीमें गठित की गई हैं. पक्षियों की मौत की सूचना के लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है.


सिंघु बॉर्डर पर किसान ने की आत्महत्या तो चेन्नई में एक दूसरे किसान ने गंवाई जान


हिमाचल में मारे गए 3500 परिंदे

हिमाचल प्रदेश के पेंग क्षेत्र में बर्ड फ्लू की दहशत है. फ्लू की पुष्टि के बाद क्षेत्र में करीब 3500 पक्षियों को मारा गया है. और सरकार ने रेड अलर्ट जारी किया है. कांगड़ा क्षेत्र के 8 किलोमीटर इलाके को सील कर दिया गया है और चिकन व अंडा बिक्री पर रोक लगा दी गई है.

राजस्थान के 11 रजिलों में खलबली

बर्ड फ्लू से सर्वाधिक प्रभावित राज्य राजस्थान माना जा रहा हैं. इसके 11 जिले फ्लू की चपेट में हैं. करीब 70 पक्षियों की मौत हो चुकी है. पार्कों के पक्षियों की निगरानी के लिए समितियां गठित की गई हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here