मौलाना तौकीर रजा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कोर्ट में अर्जी

0
22

द लीडर हिंदी : आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए सीजेएम कोर्ट में अर्जी दी गई है. अधिवक्ता वीरेंद्र पाल गुप्ता ने कोर्ट में अर्जी देकर कहा कि मौलाना तौकीर रजा आला हजरत परिवार से ताल्लुक रखते हैं, जिनका समाज में खासा प्रभाव है. बीती नौ फरवरी को शहर में धारा 144 लागू होने के दौरान जुमे की नमाज के बाद मौलाना ने सामूहिक गिरफ्तारी का ऐलान करके भीड़ को इकट्ठा करने की योजना बनाई.इसके बाद श्यामतगंज में टकराव हुआ जो भड़काऊ बयानों का परिणाम था. कोर्ट से मौलाना तौकीर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की प्रार्थना की गई है. कोर्ट ने इस पर पुलिस से रिपोर्ट मांगते हुए सुनवाई के लिए 16 अप्रैल की तारीख तय की है.

मौलाना पर लटकी रही इस मामले की गिरफ्तारी की तलवार
आपको बता दें कि 2010 के बरेली दंगे को लेकर मौलाना तौकीर रजा को पिछले दिनों कोर्ट ने मास्टरमाइंड बताया था. उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए गए थे. वह हाईकोर्ट गए तो वहां से ट्रायल कोर्ट में 27 मार्च को हाजिर होने का आदेश दिया गया था. इसके बावजूद मौलाना कोर्ट में हाजिर नहीं हुए थे. पेशी से एक दिन पहले ही वह दिल्ली के अस्पताल में भर्ती हो गए.

वही तौकीर रजा ने बीमारी का हवाला देकर अपने अधिवक्ता के जरिए अदालत में अर्जी लगवाई, जिसे कोर्ट ने लेने से इन्कार कर दिया. कयास लगाए जा रहे हैं कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है.फिलहाल, न्यायालय ने इस मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख एक अप्रैल नियत की है.

ये भी पढ़ें-https://theleaderhindi.com/there-is-a-stir-in-bareilly-due-to-chhatrapal-gangwar-surrendering-his-ticket/