एयर इंडिया का प्लेन लैंडिंग करते समय रनवे पर हुआ हादसे का शिकार, 180 पैसेंजर्स की बची बाल-बाल जान

0
39

द लीडर हिंदी: एयर इंडिया का प्लेन लैंडिंग करते समय रनवे पर हादसे का शिकार हो गया. घटना बीते दिन पुणे एयरपोर्ट की है. 180 पैसेंजर्स की जान बची तो एयरपोर्ट अधिकारियों, पायलटों और क्रू मेंबर्स की जान में जान आई. पैसेंजर्स, पायलट और क्रू मेंबर्स सुरक्षित बताए जा रहे हैं, लेकिन प्लेन डैमेज हुआ है. एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने घटनाक्रम की जानकारी एक न्यूज एजेंसी को दी. दरअसल कल 16 मई यानि गुरुवार को राजधानी दिल्ली जाने वाले एयर इंडिया के एक विमान की पुणे हवाई अड्डे पर रनवे की तरफ बढ़ते समय एक टग ट्रैक्टर से टक्कर हो गई. यह घटना तब हुई जब विमान में लगभग 180 यात्री सवार थे.वही एक अधिकारी ने बताया क‍ि लगभग 180 यात्रियों को ले जा रहे विमान की नोज और लैंडिंग गियर के पास एक टायर क्षतिग्रस्त हो गया.

इसके साथ ही एक अधिकारी ने बताया कि एयर इंडिया का प्लेन लैंडिंग के समय रनवे पर टग ट्रैक्टर से टकरा गया था. टक्कर लगते ही जोरदार झटका लगा, जिससे पैसेंजर्स में हड़कंप मच गया, लेकिन वे सुरक्षित हैं. वहीं प्लेन की आगे का हिस्सा और लैंडिंग गियर के पास वाला टायर क्षतिग्रस्त हुआ है. कड़ी सुरक्षा के बीच एहतियात के साथ पैसेंजर्स को प्लेन से उतारा गया. इसके बाद प्लेन को मरम्मत के लिए वर्कशॉप में भेज दिया गया.

फ्लाइट में कल फैली थी बम होने की अफवाह
आपको बता दें कि बीते दिन यानि बुधवार को ही दिल्ली एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमान में रखे टिशू पेपर में ‘बम’ लिखा मिला.एयर इंडिया की फ्लाइट में बम होने की अफवाह फैलने के बाद हड़कंप मच गया था. हालांकि बम और डॉग स्कवाड की चेकिंग में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला था, लेकिन अफवाह फैलने से एयरपोर्ट अधिकारियों, पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स को परेशानी का सामना करना पड़ा. बता दें एयर इंडिया की फ्लाइट गुजरात के वडोदरा के लिए टेकऑफ करने वाली थी. एक पैसेंजर को प्लेन को टॉयलेट में एक टिशू पेपर मिला, जिस पर बड़े-बड़े अक्षरों में बम लिखा हुआ था.

पैसेंजर ने वह टिशू पेपर प्लेन के क्रू मेंबर्स को दिया और उसके बाद प्लेन का टेकऑफ डिले कर दिया गया. पैसेंजर्स को प्लेन से उतारकर पूरे जहाज और यात्रियों के सामान की चेकिंग की गई। पुलिस और एयरपोर्ट अधिकारियों ने संतुष्टि होने के बाद ही प्लेन को टेकऑफ करने की अनुमति दी. वहीं एयरपोर्ट अधिकारियों की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज करके अफवाह फैलाने वाले की तलाश शुरू कर दी है.