क्या 2023 में भी बना रहेगा कोरोना का खतरा? जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

0
37

The leader Hindi: जहां एक तरफ लोग नव वर्ष मनाने की खुशी में उत्साहित हैं तो वहीं दूसरी ओर दुनिया भर में कोरोना के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं।ऐसे में सरकार ने कई पाबंदियां लगाना शुरू कर दिया है और साथ ही कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। कहीं मास्क पहनना जरूरी रहेगा तो कहीं रेंडम टेस्टिंग के आदेश दिए गए हैं । जगह-जगह आरटी- पीसीआर टेस्ट की मशीनें भी लगाई गई है। कुछ ही घंटों में हम नए साल में प्रवेश करने वाले हैं। बता दे भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी है कि जनवरी 2023 में कोरोना के संक्रमण में तेजी आ सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अगले 40 दिनों को चुनौतियों से भरा बताया है।

नए साल के शुरू होने से पहले ही केंद्र सरकार एक्शन में है। कहीं मास्क लगाना जरूरी कर दिया गया है तो कहीं जनरल बोगी वाली ट्रेनें भी कैंसिल की गई हैं। भीड़भाड़ वाली जगहों पर टेस्टिंग के निर्देश दिए हैं तो किसी राज्य के हर जिले में RT- PCR मशीनें लगवा दी गई हैं। उत्तराखंड में कोरोना टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश में कोविड प्रोटोकॉल लागू कर दिए गए हैं। राजस्थान में भीड़भाड़ वाले स्थानों पर रेंडम टेस्टिंग के निर्देश दिए गए हैं। हरियाणा के कई जिलों में RT- PCR की मशीन लगाई गई है. उत्तर प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं और साथ ही प्रिकॉशन डोज बढ़ाने को कहा गया है।

 

ये भी पढ़े:

जम्मू कश्मीर में आतंक पर सरकार ने किया वार, आतंकी कमांडर आमिर खान के घर पर चलाया बुलडोजर