यूपी सरकार ने ख़त्म किया वर्क फ्रॉम होम, सिर्फ दिव्यांग और गर्भवती महिलाओं को मिलेगी छूट

0
134

द लीडर | उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने अहम फैसला लिया है। इसके तहत गर्भवती महिलाओं और विकलांग कर्मचारियों को कार्यालय में उप‍स्थिति से छूट रहेगी। दफ्तरों में भीड़-भाड़ को कम करने के लिए सरकार ने यहां पहले ही 50 फीसदी कर्मचार‍ियों के कार्यालयों से और इतने ही कर्मचारियों के घर से काम करने का निर्देश जारी किया था। अब सरकार ने गर्भवती महिलाओं और विकलांग कर्मचारियों को दफ्तर में उपस्थिति से छूट दी है।

इस मामले में राज्य के मुख्य सचिव ने आदेश जारी किया है। दरअसल, सूबे में कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है। जिसके बाद अब राज्य सरकार ने सभी कर्मचारियों को दफ्तर बुलाने का आदेश दिया है। जबकि अभी तक दिन में 50 फीसदी कर्मचारियों को ही कार्यालय में बुलाया जा रहा था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, राज्य सरकार ने मंगलवार को इसको लेकर नए आदेश जारी किए हैं और मंगलवार को मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र की तरफ से आदेश जारी कर वर्फ फ्रॉम होम की व्यवस्था को समाप्त कर दिया है।


यह भी पढ़े –भारत में कितना फैला हुआ है भ्रष्टाचार ? ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल रिपोर्ट ने किया खुलासा


सिर्फ दिव्यांगों और गर्भवती महिलाओं को छूट

राज्य सरकार के नए आदेश के तहत संक्रमण कम हुआ है। ऐसे में सभी कर्मचारियों को कार्यालय आना होगा। लेकिन दिव्यांगों और गर्भवती महिलाओं को इससे छूट मिलेगी। लेकिन इन कर्मचारियों को मोबाइल फोन चालू रखने होंगे और उन्हें जरूरत पड़ने पर कार्यालय बुलाया जा सकता है।

50 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति

यहां गौर हो कि यूपी सरकार ने करीब दो सप्‍ताह पहले कोविड संक्रमण को देखते हुए आवश्यक सेवाओं को छोड़कर राज्य के बाकी सभी सरकारी और निजी कार्यालयों में एक समय में 50 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति की व्यवस्था लागू करने के निर्देश दिए थे। साथ ही आवश्यकता के अनुसार घर से काम करने की संस्कृति को प्रोत्साहित करने पर भी जोर दिया था। साथ ही सभी कार्यालयों में अनिवार्य रूप से कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना करने को कहा था।

राज्य में सामने आए कोरोना के 11583 मामले

राज्य में कोरोना के मामले में तेजी से गिरावट आ रही है और राज्य में हालात अभी नियंत्रण में हैं। वहीं राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 11,583 नये मामले आये हैं और इसके बाद राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या 86 हजार तक पहुंच गई है। राज्य के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक राज्य में अब तक कुल 9,82,94,982 सैम्पल की जांच की गयी हैं और विगत 24 घण्टों में 18,875 लोग कोरोना संक्रमण से उबर गए हैं और अब तक राज्य में कुल 18,59,717 लोग कोविड-19 से ठीक हुए हैं। जबकि राज्य में कोरोना के कुल एक्टिव केसों की संख्या 86,563 है और जिनमें 84,141 लोग होम आइसोलेशन में है।

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here