बिहार में आंधी-तूफान-बिजली गिरने से 16 ज़िलों में अब तक 33 लोगों की मौत

0
72

द लीडर | बिहार में गुरुवार को आए आंधी-तूफान के बीच आकशीय बिजली गिरने से होने वाली मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार तक यहां 27 मौतें दर्ज की गई थीं, लेकिन अब आकाशीय बिजली से मरने वालों की संख्या 33 पहुंच चुकी है। जानकारी के मुताबिक, 16 जिलों में 33 लोगों की मौत की सूचना मिली है।

भागलपुर में सबसे ज्यादा मौतें

बिहार में आंधी-तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान भागलपुर में हुआ है। यहां आकाशीय बिजली के कारण सात लोगों की मौत हुई है। मुजफ्फरपुर में छह लोगों की मौत की सूचना है। दरअसल, बिहार में गुरुवार दोपहर अचानक से मौसम बदलने के बाद यहां बारिश के साथ आंधी शुरू हो गई। इसके बाद कई जगहों पर पेड़ गिर गए और बिजली बाधित रही।

प्रधानमंत्री ने भी जताया शोक

बिहार में आकाशीय बिजली गिरने से 33 लोगों की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, बिहार के कई जिलों में आंधी एवं बिजली गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मृत्यु से अत्यंत दुख हुआ है। ईश्वर शोक-संतप्त परिवारों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति दे। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटा है।


यह भी पढ़े –मुसलमानों के ख़िलाफ नफ़रत फैलाने पर नरसिंहानंद का माफ़ी वाला वीडियो वायरल


खराब मौसम में घर में रहने की अपील

सीएम नीतीश कुमार ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करें। खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें।

मौसम में बदलाव की वजहें

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, आंतरिक तमिलनाडु और इससे सटे कर्नाटक पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र सक्रिय है। मार्ताबन की खाड़ी और उससे सटे म्यांमार के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है अब उसी क्षेत्र पर एक गहरा निम्न दबाव का क्षेत्र बन सकता है। इससे संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है। अगले 24 घंटों के दौरान इसके उत्तर पूर्व की ओर म्यांमार की ओर बढ़ने की संभावना नहीं है। स्काईमेट वेदर के अनुसार, एक उत्तर दक्षिण ट्रफ मध्य प्रदेश के मध्य भागों से मराठवाड़ा और आंतरिक कर्नाटक होते हुए आंतरिक तमिलनाडु तक फैली हुई है।

इन राज्यों में बारिश का अलर्ट

अगले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम के कुछ हिस्सों, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, तटीय कर्नाटक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी है।

जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु के केरल भागों, बिहार पूर्वी झारखंड और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

देश में लू का असर

पश्चिमी राजस्थान के कई हिस्सों और पूर्वी राजस्थान, उत्तरी मध्य प्रदेश, दक्षिण पंजाब, दक्षिण हरियाणा, दक्षिण उत्तर प्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्सों में लू का असर रहा। पश्चिम राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में भीषण लू के साथ कई स्थानों पर लू की स्थिति बनी हुई है। पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दक्षिण पंजाब, दक्षिण हरियाणा और दिल्ली एनसीआर के एक या दो हिस्सों में कुछ स्थानों पर भी लू की चेतावनी जारी की गई है।

सीएम नीतीश ने की अनुग्रह राशि की घोषणा

सीएम नीतीश कुमार ने ट्वीट कर बताया, 16 जिलों में आंधी और आकाशीय बिजली गिरने से 33 लोगों की मृत्यु दुखद है। मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये अनुग्रह राशि दी जाएगी। उन्होंने लोगों से सावधानी बरतने की अपील भी की। इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों को नुकसान का आंकलन कर पीड़ितों को तत्काल सहायता पहुंचाने के निर्देश भी दिए

(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)