लोकसभा चुनाव जीतने के लिए पुलवामा में बहाया गया 40 जवानों का खून : शिवसेना

0
360
Pulwama Attack Planned Plot Bjp Shed Blood-of 40 CRPF Jawans to Win Loksabha Elections Said Shivsena in Samana

रिपब्लिक भारत चैनल के चीफ अर्णब गोस्वामी के हालिया लीक हुए वाट्सएप चैट को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधते हुए बेहद गंभीर आरोप लगाये हैं. भाजपा पर सवाल उठाते हुए अपने अखबार सामना के ‘सामना अग्रलेख –इथे तांडव नाही’ शीर्षक के सम्पादकीय में लिखा है कि पुलवामा में भारतीय सैनिकों की हत्या ‘देशांतर्गत राजनीतिक षडयंत्र’ था. लोकसभा चुनाव जीतने के लिए ही 40 जवानों का खून बहाया गया था. लेख आगे कहता है कि इस तरह के आरोप उस वक़्त भी लगाये गए थे. सम्पादकीय आगे लिखता है कि अर्णब गोस्वामी का हाल ही में बाहर आया वाट्सएप चैट इन आरोपों को और ज्यादा बल प्रदान करने वाला है. (Shivsena on pulwama in Samana)

गौरतलब है की 14 फरवरी 2019 में पुलवामा में हुए एक हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे. देश को झकझोर देने वाले इस हादसे के बाद उस समय समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने हमले के पीछे साजिश की आशंका जताते हुए अपना संदेह जाहिर किया था.  तब उन्होंने कहा था कि ‘वोट की खातिर जवानों को मार दिया गया. जब सरकार बदलेगी तब इस प्रकरण की जांच की जाएगी, तब बड़े-बड़े लोग इसमें फंसेंगे.’ सैफई के एक कार्यक्रम में रामगोपाल यादव ने कहा था कि ‘पैरामिलिट्री फोर्स सरकार से दुखी है. वोट के लिए जवान मार दिए गए. जम्मू-श्रीनगर के बीच चेकिंग नहीं की गयी. जवानों को साधारण बस में भेजा गया, ये साजिश थी.’ उन्होंने यह भी कहा था कि ‘इस साजिश के बारे में अभी कुछ नहीं कहना चाहता, जब सरकार बदलेगी, इस मामले की जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे.’

शिवसेना ने इस लेख में यह भी कहा है कि जब राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित कई गोपनीय बातें अर्णब गोस्वामी ने सार्वजनिक कर दी हैं तो इस पर भाजपा की ख़ामोशी संदेहापस्द है. लेख में यह सवाल उठाया गया है कि अर्णब को गोपनीय जानकारी लीक कर राष्ट्रीय सुरक्षा की धज्जियां उड़ाने वाले असल में कौन थे?

अखबार लिखता है कि 40 जवानों की  शहादत पर अर्णब गोस्वामी का आनंद प्रकट करना धर्म और देश का सरासर अपमान है. अखबार ने लिखा है कि तांडव का विरोध करने वाली भाजपा भारत माता को इस कदर अपमानित करने वाले अर्णब गोस्वामी के मामले में चुप क्यों है? अखबार के अनुसार हिंदुस्तानी सेना व सैनिकों की शहादत का जितना अपमान अर्नव ने किया, उतना अपमान पाकिस्तानियों ने भी नहीं किया.

इसे भी पढ़ें : सेना की गोपनीय सूचनाएं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को देन के आरोप में पूर्व सैनिक गिरफ्तार

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here