पाकिस्तान में मस्जिदों के अंदर बिना वैक्सीन लगवाए नमाज अदा करने पर बैन

0
180

COVID 19 के नए वैरिएंट की लहर ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय संचालन कमांड सेंटर को मस्जिदों के लिए नई गाइडलाइन जारी करने को मजबूर कर दिया है। शुक्रवार को जारी एसओपी में कहा गया है कि जिन लोगों को टीका लगाया गया है, सिर्फ उन्हें ही, वो भी अनिवार्य रूप से मास्क के साथ मस्जिदों में नमाज अदा करने की अनुमति होगी। इसके साथ ही नमाजियों को कम से कम छह फीट की सामाजिक दूरी बनाए रखनी होगी। (Namaz Pakistan Without Vaccination)

एनसीओसी ने साफतौर पर यही भी कहा है कि बुजुर्ग नमाज में शामिल होने वाली संख्या कम रखने को घर पर ही नमाज अदा करें। एसओपी बार-बार हैंड सैनिटाइटर के उपयोग और खुले स्थानों में नमाज की व्यवस्था करने, वायरस का प्रसार को रोकने के लिए अच्छा वेंटिलेशन सुनिश्चित करने पर जोर देती है। कमांड सेंटर ने नमाजियों से घर पर वुजू को प्राथमिकता देने और जुमे की नमाज में खुतबा छोटा करने की सिफारिश की है।

पिछले 24 घंटों में पाकिस्तान ने 7678 नए कोविड ​​​​-19 मामले दर्ज किए हैं। नए मामलों के बढ़ने के साथ देश में कुल मामले 1.35 मिलियन को पार कर गए हैं। इस बीच पिछले 24 घंटों में 59,343 परीक्षण किए गए, जिससे सकारात्मक अनुपात 12.93 प्रतिशत बढ़ गया। (Namaz Pakistan Without Vaccination)

आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 23 हो गई, जिससे कुल मृत्यु का आंकड़ा 29,065 हो गया।

मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि के बावजूद उच्च पदस्थ अधिकारियों ने यह कहते हुए लॉकडाउन करने से इनकार कर दिया कि देश की अर्थव्यवस्था बोझ उठाने में असमर्थ है।

नेशनल ऑपरेशंस एंड कमांड सेंटर से संकलित आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में 57,000 से अधिक सक्रिय मामले है, जिनमें 961 मरीज गंभीर स्थिति में हैं। (Namaz Pakistan Without Vaccination)

आंकड़ों से पता चलता है कि कराची में सबसे अधिक सकारात्मकता दर 45.43 प्रतिशत है, इसके बाद मुजफ्फराबाद दूसरे स्थान पर 23.94 प्रतिशत और इस्लामाबाद 18.91 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर है।


यह भी पढ़ें: जिस म्यांमार ने खदेड़े रोहिंग्या, वहां मस्जिद बांट रही मुफ्त खाना


(आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here