पाकिस्तान की अदालत ने जेएम प्रमुख मसूद अजहर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया

0
440

पाकिस्तान की आतंकवाद रोधी अदालत ने गुरुवार को आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) के प्रमुख मसूद अजहर के खिलाफ पाकिस्तान में आतंकी वित्तपोषण के आरोप में गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

आतंकवाद निरोधक अदालत (एटीसी) गुजरांवाला ने पंजाब पुलिस के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (CTD) द्वारा कुछ जैश सदस्यों के खिलाफ एक आतंकी-वित्तपोषण मामले की सुनवाई करते हुए आदेश जारी किया है।

एक अधिकारी ने कहा, “एटीसी गुजरांवाला के जज नताशा नसीम सुप्रा ने मसूद अजहर के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया और सीटीडी को उसे गिरफ्तार करने और कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया। सीटीडी ने जज को बताया कि जेएम प्रमुख आतंकी वित्तपोषण और जिहादी साहित्य को बेचने में शामिल था,” समाचार एजेंसी पीटीआई के हवाले से ये बताया गया है।

ऐसा माना जाता है कि अजहर अपने गृहनगर बहावलपुर में “सुरक्षित जगह” में छिपा है।

फरवरी 2019 में जम्मू-कश्मीर में पुलवामा में 40 भारतीय सुरक्षाकर्मियों की हत्या के बाद, पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पुलिस ने टेरर फाइनेंसिंग के मामले में जैश  के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया।

सीटीडी ने कहा कि छह जैश सदस्यों को एक सुरक्षित घर पर छापे में गिरफ्तार किया गया और लाखों रुपये बरामद किए।

सीटीडी ने कहा कि संदिग्ध जेएम की गतिविधियों को वित्तपोषित करने के लिए धन एकत्र कर रहे थे। उनके खिलाफ आतंकवाद निरोधक अदालत गुजरांवाला में आरोप-पत्र प्रस्तुत किया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

संयुक्त राष्ट्र द्वारा अजहर को मई 2019 में “वैश्विक आतंकवादी” घोषित किया गया था।

ये भी पढ़ें – मुंबई आतंकी हमले के आरोपी जकीउर रहमान लखवी को 15 साल की सजा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here